BRICS समिट के पहले दिन प्रधानमंत्री का संबोधन! बिजनेस फोरम से किया ये अनुरोध

ब्राजील की राजधानी ब्राजीलिया में चल रहे BRICS सम्मेलन के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिजनेस फोरम को संबोधित किया. उन्होंने इस दौरान कुछ अहम सुझाव देते हुए अनुरोध भी किया.

BRICS समिट के पहले दिन प्रधानमंत्री का संबोधन! बिजनेस फोरम से किया ये अनुरोध

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्राजील की राजधानी ब्राजीलिया में चल रहे दो दिवसीय ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लिया. समिट के पहले दिन 13 नवंबर को पीएम मोदी ने ब्रिक्स के सदस्य देशों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की और इस दौरान ब्रिक्स बिजनेस फोरम के मंच से संबोधित करते हुए भारत का पक्ष रखा.

BRICS सम्मेलन में भारत

पीएम मोदी की ब्राजील यात्रा के दौरान उनके साथ एक बड़ा व्यापार प्रतिनिधि दल भी पहुंचा है. ये व्यापार प्रतिनिधि दल ब्रिक्स बिजनेस फोरम में हिस्सा लिया. ब्रिक्स समिट के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ अलग-अलग द्विपक्षीय वार्ता भी की. इस दौरान आपसी संबंधों के साथ-साथ कई और मुद्दों पर भी चर्चा हुई.

बिजनेस को प्राथमिकता देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्राजील के राष्ट्रपति इस फोरम के ऑर्गेनाइजर और सभी पार्टिसिपेंट्स को बधाई दिया. इस सम्मेलन के पहले दिन पीएम मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ एक उत्कृष्ट बैठक की. अपनी बातचीत के दौरान, पीएम मोदी ने भारत-रूस संबंधों की पूरी श्रृंखला की समीक्षा की. 

पीएम मोदी ने ट्वीट करके बताया कि भारत और रूस व्यापार, सुरक्षा और संस्कृति जैसे क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर सहयोग कर रहे हैं. उन्होंने ये भी लिखा कि हमारे देशों के लोगों को करीबी द्विपक्षीय संबंधों के कारण लाभ होगा. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने पुतिन के साथ की एक अनोखी तस्वीर भी साझा की.

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो से भी मुलाकात की. पीएम मोदी ने समिट की मेजबानी के लिए राष्ट्रपति जायर और ब्राजील का आभार जताया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके ये जानकारी दी कि आज दोनों देशों की वार्ता के दौरान, हमने अर्थव्यवस्था, कनेक्टिविटी और लोगों से लोगों के संबंधों से संबंधित क्षेत्रों में सहयोग को आगे बढ़ाने पर चर्चा की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार छठी बार ब्रिक्स समिट में भारत का नेतृत्व कर रहे हैं. पीएम मोदी पहली बार ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेने 2014 में ब्राजील के शहर फोर्टलेजा गए थे. सम्मेलन के पहले दिन पीएम ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से भी मुलाकात की. पीएम ने बताया कि राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ वार्ता द्विपक्षीय सहयोग को गहरा करने से संबंधित कई विषयों पर चर्चा की गई. उन्होंने ये कहा कि आज की चर्चाओं से भारत-चीन संबंधों में नया जोश आएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

पीएम मोदी ने ब्रिक्स बिजनेस फोरम के मंच से कहा कि विश्व में आर्थिक मंदी होने के बावजूद ब्रिक्स देशों ने आर्थिक विकास को गति दी है, करोड़ों लोगों को गरीबी से बाहर निकाला है और टेक्नोलॉजी तथा इनोवेशन में नई-नई सफलताएं हासिल की हैं. अब ब्रिक्स की स्थापना के 10 साल बाद भविष्य में हमारे प्रयासों पर विचार करने के लिए ये फोरम एक अच्छा मंच है.

इसे भी पढ़ें: ब्रिक्स सम्मेलन में पीएम मोदी, इन मुद्दों पर होंगी बातें

उन्होंने कहा कि इन्ट्राबेस बिजनेस को आसान बनाने से परस्पर व्यापार और निवेश बढ़ेगा. हम पांच देशों के बीच टैक्स और कस्टम प्रक्रियाएं सरल होती जा रही हैं. बिजनेस का वातावरण बेहतर होता जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स बिजनेस फोरम से अनुरोध किया कि इस प्रकार उत्पन्न अवसरों का पूरा लाभ उठाने के लिए जरूरी बिजनेस पहलों का अध्ययन करे. हमारे बीच व्यापार के लागत को और कम करने के लिए आपके सुझाव बहुत उपयोगी होगे.

नीचे सुने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन के दौरान और क्या कुछ कहा?

ब्रिक्स सम्मेलन की थीम ‘उन्नत भविष्य के लिए आर्थिक वृद्धि’ है. पीएम मोदी का ब्रिक्स बिजनेस फोरम के समापन और ब्रिक्स के मुख्य सत्र और समापन समारोह दोनों में हिस्सा लेने का कार्यक्रम है. ब्रिक्स विश्व की पांच बड़ी अर्थव्यवस्था ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका से मिलकर बना है. ब्रिक्स देशों की दुनिया की कुल आबादी में 42% और जीडीपी में 23% हिस्सेदारी है. पांचों देशों का विश्व व्यापार में हिस्सा 17% है.