• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,76,685 और अबतक कुल केस- 7,93,802: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 4,95,513 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 21,604 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 62.08% से बेहतर होकर 62.42% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 19,135 मरीज ठीक हुए
  • पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 19,135 मरीज ठीक हो चुके हैं, ठीक हुए लोगों और सक्रिय मामलों के बीच का अंतर 2 लाख से अधिक है
  • भारत में प्रति मिलियन आबादी पर कोविड-19 के सबसे कम 538 मामले हैं जबकि वैश्विक औसत 1497 हैं
  • MoHFW ने कोविड-19 के हल्के मामलों में HCQ का उपयोग करने की सिफारिश की और गंभीर रोगियों को इसके सेवन से बचने की सलाह दी
  • एएसआई के स्मारकों में फ़िल्म शूटिंग करने के लिए 15 दिन के अंदर मिलेगी इजाजत
  • 750 मेगावाट की रीवा सौर परियोजना से हर साल करीब 15 लाख टन CO2 बराबर कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी, PM राष्ट्र को करेंगे समर्पित
  • मंत्रालय एक राष्ट्र-एक राशन कार्ड योजना को जनवरी 2021 तक शेष सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में लागू करने के लिए प्रयासरत है
  • MHRD: विज्ञान, तकनीक और कानून आदि जैसे विषयों पर प्राथमिक से PG तक की गुणवत्ता वाली सामग्री विभिन्न प्रारूपों में उपलब्ध है

चीन पर भारत का कूटनीतिक वार, अमेरिकी रक्षामंत्री से बात करेंगे राजनाथ सिंह

भारत और चीन के बीच चल रहे विवाद पर भारत कूटनीतिक रूप से चीन पर वार करने की योजना बना रहा है. राजनाथ सिंह आज अमेरिका के रक्षामंत्री मार्क ऐस्पर से बात करेंगे.

चीन पर भारत का कूटनीतिक वार, अमेरिकी रक्षामंत्री से बात करेंगे राजनाथ सिंह

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच एक तरफ तो कमांडर स्तर की बातचीत भी हो रही है और दूसरी तरफ तो रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अमेरिका के रक्षामंत्री से बात करके चीन पर कूटनीतिक दबाव डालने जा रहे हैं.

चीन के साथ चल रहे गतिरोध पर भारत को वैश्विक स्तर पर मजबूती देने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर से फोन पर बात करेंगे.

अमेरिका को पूरी स्थिति से अवगत कराने की तैयारी

आपको बता दें कि भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद अमेरिका ने भारत के प्रति अपनी आत्मीयता जाहिर की थी और अमेरिकी विदेश मंत्री ने भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की थी, साथ ही साढ़े शब्दों में चीन पर कूटनीतिक दबाव भी बनाया था.

ये भी पढ़ें- जम्मू कश्मीर: अनंतनाग में सुरक्षाबलों ने दो आतंकी मार गिराए

इन सभी तथ्यों को ध्यान में रखते हुए उल्लेखनीय है कि भारत सरकार चाहती है कि अमेरिका को पूरी परिस्थितियों का अभिज्ञान कराया जाए. रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि राजनाथ सिंह अमेरिका के रक्षा मंत्री एस्पर से फोन पर बात करेंगे. बातचीत में लद्दाख में चीन के साथ जारी तनाव का मुद्दा भी उठने की उम्मीद है.