• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 6,19,088 और अबतक कुल केस- 20,27,075: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 14,27,006 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 42,518 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 67.98% से बेहतर होकर 68.32% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 48,900 मरीज ठीक हुए
  • पीएम मोदी ने नई शिक्षा नीति को गेम चेंजर के रूप प्रशंसा की; इसे नए भारत की नींव बताया
  • चुनने, बदलाव और कौशल बढ़ाने का लचीली व्यवस्था देता है, संस्थानों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान अधिक स्वायत्तता प्रदान करता है
  • शिक्षण को खोज-आधारित और विश्लेषण-आधारित मोड में ले जाएगा
  • आत्मनिर्भर ऐप चैलेंज का ग्रैंड फिनाले आज आयोजित, इस दौरान फाइनलिस्ट ने देश में विकसित सर्वश्रेष्ठ भारतीय ऐप का प्रदर्शन किया
  • देश में जनवरी में 1 नैदानिक प्रयोगशाला थी जिसकी संख्या 1370 हो गई; जो पिछले 3 दिनों तक 6 लाख से अधिक जांच करने में सक्षम है
  • दिल्ली एयरपोर्ट ने एक पोर्टल का विकास किया जो देश भर में अंतर्राष्ट्रीय आगमन की प्रक्रिया को आसान और संपर्क-विहीन बनाएगा
  • जल जीवन मिशन के तहत अब 25% घरों में नल से पीने का पानी पहुंचता है, 2024 तक हर ग्रामीण तक पहुंचने का लक्ष्य है: जल शक्ति मंत्री

कोरोना के खिलाफ जंग में रूस भारत के साथ, इस रूसी कम्पनी ने दिए इतने रुपये

कंपनी ने कहा कि भारत परंपरागत रूप से रोसोबोरोनएक्सपोर्ट का प्रमुख साझेदार रहा है. अब इस मुश्किल घड़ी में कंपनी मानवीय उद्देश्य के लिए उसकी मदद कर रही है. कोरोना से लड़ाई के लिए कंपनी की तरफ से भारत को 2 मिलियन डॉलर की राशि दान स्वरूप दी गई है.

कोरोना के खिलाफ जंग में रूस भारत के साथ, इस रूसी कम्पनी ने दिए इतने रुपये

नई दिल्लीः कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में रूस भी भारत के साथ खड़ा है. PM केयर्स फंड में देश भर के लोग अपनी इच्छानुसार दान कर रहे हैं. इसमें एक रूसी कंपनी ने भी दान किया है. रूसी सरकार की मुख्य रक्षा निर्यात संस्था रोसोबोरोनेक्सपोर्ट ने COVID-19 संकट से निपटने के लिए गठित PM CARES फंड में 2 मिलियन डॉलर की राशि दान की है.

भारत के साथ हमेशा रहा है रूस

कंपनी ने कहा कि भारत परंपरागत रूप से रोसोबोरोनएक्सपोर्ट का प्रमुख साझेदार रहा है. अब इस मुश्किल घड़ी में कंपनी मानवीय उद्देश्य के लिए उसकी मदद कर रही है. कोरोना से लड़ाई के लिए कंपनी की तरफ से भारत को 2 मिलियन डॉलर की राशि दान स्वरूप दी गई है. यह इस महामारी से मुकाबले में हमारी एकजुटता को प्रदर्शित करता है.

फंड में दान देने वाली पहली विदेशी कम्पनी

आपको बता दें कि कोरोना से जंग में PM CARES फंड में योगदान देना वाली रोसोबोरोनेक्सपोर्ट पहली विदेशी कंपनी है. गौरतलब है कि भारतीय सरकार ने घोषणा की थी कि PM CARES एक सार्वजनिक धर्मार्थ ट्रस्ट होने के नाते भारत और विदेश से "महामारी की अभूतपूर्व प्रकृति को ध्यान में रखते हुए" योगदान स्वीकार करेगा.

अब मुरादाबाद में दिखा जाहिलपन, क्वारंटाइन करने गई मेडिकल टीम पर हमला

इससे भारत रूस सम्बन्ध होंगे मजबूत

आपको बता दें कि रोसोबोरोनेक्सपोर्ट रूसी सरकार का हिस्सा है और भारत को दान देने की उसकी घोषणा दोनों देशों के बीच घनिष्ठ होते संबंधों को दर्शाते हैं. पिछले महीने भारतीय पीएम मोदी और रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने COVID-19  संकट पर बात की थी.

इसके बाद विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला और रूसी उप विदेश मंत्री इगोर मोर्गुलोव के बीच भी बातचीत हुई, जिसमें दोनों पक्षों ने अपने-अपने देशों में फंसे हुए एक-दूसरे के नागरिकों का कल्याण सुनिश्चित करने में घनिष्ठ द्विपक्षीय सहयोग पर चर्चा की. रूस में लगभग 15,000 भारतीय छात्र हैं और करीब 5000 रूसी पर्यटक इस वक्त भारत में हैं.

रूस में कोरोना वायरस के एक दिन में रिकॉर्ड 3,000 से ज्यादा मामलों की पुष्टि हुई है. इसके साथ ही यहां मरीजों की संख्या 25,000 के करीब पहुंच गई है. देश के कोरोना वायरस रिस्पॉन्स सेंटर के अनुसार पिछले 24 घंटे में 3,388 मामलों की पुष्टि हुई है.इसके साथ ही यहां मरीजों की संख्या 24,490 हो गई है. इनमें से 198 लोगों की मौत हो गई.

कोरोना वायरस: नाराज डोनाल्ड ट्रंप ने WHO पर की ये बड़ी कार्रवाई