close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाक ने सिद्धू को दिया था करतारपुर के लिए पहला पास, अब मिली राजनीतिक मंजूरी

सिद्धू को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए पाकिस्तान जाना था, लेकिन भारत सरकार से राजनीतिक मंजूरी नहीं मिल पाने के कारण उहापोह की स्थिति थी. दरअसल वीजा के साथ, नवजोत सिंह सिद्धू वाघा बॉर्डर तो पार कर सकते थे, लेकिन एक भारतीय राज्य विधायिका के निर्वाचित प्रतिनिधि के रूप में उन्हें राजनीतिक मंजूरी की आवश्यकता थी.

पाक ने सिद्धू को दिया था करतारपुर के लिए पहला पास, अब मिली राजनीतिक मंजूरी

नई दिल्लीः विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर से जुड़े उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए पंजाब के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को मंजूरी दे दी है. सिद्धू 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर के जरिए कार्यक्रम में शामिल होने पड़ोसी मुल्क जाएंगे. एएनआई के मुताबिक, 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर के जरिये यात्रा के लिए कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्ध को राजनीतिक मंजूरी मिल गई है. पाकिस्तान ने मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को न्योता भेजा था, जिसे उन्होंने ठुकरा दिया था.

इसके बाद पाक ने सिद्धू को न्योता भेजा. सिद्धू पाकिस्तान जाने को इतने बेताब थे कि उन्होंने विदेश मंत्रालय को मंजूरी के लिए तीन बार चिट्ठी लिख डाली.
इससे पहले नवजोत सिंह सिद्धू के सवाल पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि कार्यक्रम के महत्व को देखते हुए किसी एक व्यक्ति को हाइलाइट करना कहीं से भी सही नहीं है. वहीं, पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने बताया कि उसने सिद्धू को करतारपुर आने के लिए वीजा जारी कर दिया है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान करतारपुर कॉरिडोर का 9 नवंबर को उद्घाटन करेंगे. इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने नवजोत सिंह सिद्धू को विशेष न्योता भेजा था. सिद्धू के न्योते पर विदेश मंत्रालय ने कहा था कि पाकिस्तान जाने के लिए सिद्धू को राजनीतिक मंजूरी लेनी होगी. यह दीगर है कि इमरान खान ने करतारपुर साहिब कॉरिडोर के लिए पहला पास नवजोत सिंह सिद्धू को ही दिया. पास को पाकिस्तान हाई कमीशन की ओर से जारी किया गया है. पास के साथ पाक प्रधानमंत्री इमरान खान का निमंत्रण भी शामिल था. पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह और केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी 575 लोगों की उन लिस्ट में शामिल हैं जो भारत से करतारपुर जाने वाले पहले श्रद्धालु जत्थे में शामिल हैं. केंद्र सरकार ने 29 अक्टूबर को पाकिस्तान जाने वाले 575 श्रद्धालुओं की सूची जारी की थी.

इसिलए जरूरी थी राजनीतिक मंजूरी
इससे पहले पाकिस्तान उच्चायोग ने बुधवार को नवजोत सिंह सिद्धू को पाकिस्तान जाने के लिए वीजा जारी कर दिया. सिद्धू को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए पाकिस्तान जाना था, लेकिन भारत सरकार से राजनीतिक मंजूरी नहीं मिल पाने के कारण उहापोह की स्थिति थी. सिद्धू का कहना था कि सरकार का जवाब नहीं आया तो वे चले जाएंगे, लेकिन अगर सरकार की ओर से मना किया जाता है तो वे नहीं जाएंगे. दरअसल वीजा के साथ, नवजोत सिंह सिद्धू वाघा बॉर्डर तो पार कर सकते थे, लेकिन एक भारतीय राज्य विधायिका के निर्वाचित प्रतिनिधि के रूप में उन्हें राजनीतिक मंजूरी की आवश्यकता थी.