• पूरे देश में कोरोना वायरस के कुल सक्रिय मामले अभी तक 4312 हैं, अभी तक 124 लोगों की मृत्यु हुई, 353 लोग इलाज के बाद ठीक हुए
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना मरीजों की देखभाल के लिए अस्पताल और अन्य सुविधाओं को तीन भागों में बांटा.
  • भारतीय रेलवे अपने डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों की सुरक्षा के लिए हर रोज एक हजार पीपीआई किट का निर्माण करेगी
  • कोरोना से निपटने के लिए राहत कार्यों में योगदान देने के लिए पूर्व सैनिकों ने स्वैच्छिक सेवाएं प्रदान की
  • लॉकडाउन के बीच जहाजों का आवागमन होगा, पोत परिवहन मंत्रालय ने सुनिश्चित किया
  • सरकार के दीक्षा ऐप पर कोरोना से जूझने वालों के लिए इंटीग्रेटेड ऑनलाइन गवर्नमेन्ट ट्रेनिंग यानी IGOT कोर्स लाया गया है
  • पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की चपेट में 1,428,428, अब तक कुल 82,020 की मौत हो चुकी है. 3,00,198 मरीज ठीक भी हुए.
  • राज्यों में कुल कोरोना संक्रमण- महाराष्ट्र में 1161, तमिलनाडु में 690, दिल्ली में 606, तंलंगाना में 404, केरल में 336
  • उत्तर प्रदेश में 332 राजस्थान में 343, आंध्र में 324, मध्य प्रदेश में 280, कर्नाटक में 204, गुजरात में 168

स्पेन बन रहा है तीसरा सबसे बड़ा कोरोना संक्रमित देश

इटली की तर्ज पर ही कोरोना ने स्पेन को भी अपनी गिरफ्त में जकड़ लिया है, ऐसा लगता है. स्पेन में कोरोना वायरस से अब तक 2700 मौतें हो चुकी हैं और संक्रमण की गति भी लगातार बढ़ रही है..

स्पेन बन रहा है तीसरा सबसे बड़ा कोरोना संक्रमित देश

नई दिल्ली: न केवल स्पेन के लिए बल्कि यूरोप के लिए भी ये चिंताजनक समाचार है कि अब दूसरा इटली बन रहा है उनका एक बड़ा देश जिसे दुनिया स्पेन के नाम से जानती है. स्पेन में अब तक कोरोना वायरस से 2700 मौतें हो गई हैं और माना जा रहा है कि अब दूसरा इटली बन रहा है स्पेन.

स्पेन में बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमण के मामले

चीन से निकला कोविद 19 अर्थात कोरोना वायरस सबसे तेजी से तीन राष्ट्रों में फैला - दक्षिण कोरिया, इटली और ईरान. दक्षिण कोरिया ने संक्रमण पर काफी हद तक काबू पा लिया है. अब ईरान में भी कोरोना का कोहराम ढलान पर है.  यूरोप में इटली में इसका संक्रमण काबू में नहीं आया है औऱ लगातार बढ़ता जा रहा है.

अब स्पेन भी इटली के पीछे चलने लगा है और यहां भी कोरोना का नया गढ़ बनता जा रहा है. स्पेन में कोरोना वायरस के अब तक चालीस हजार मामले सामने आ चुके हैं जबकि इस वायरस से वहां ढाई हजार से ज्यादा करीब 2700 कोरोना से मौतें हो चुकी है. कोरोना संक्रमण से हुई मौतों का ये  आंकड़ा इटली और चीन के बाद सबसे ज्यादा है.

लॉकडाउन का पालन नहीं किया

स्पेन की लापरवाही कही जाये या उनकी कमजोरी, पिछले दो हफ्ते वहां निर्णायक रहे और उस दौरान स्पेन में दुनिया में सबसे तेजी से कोरोना वायरस के मामले बढ़े हैं. कोरोना विशेषज्ञ कह रहे हैं कोरोना के कारण सरकार का देर से ऐक्टिव होना होना ही नहीं है बल्कि स्पेन के लोगों की ऐक्टिव नाइटलाइफ भी है और ऊपर से वहां की जनता ने लॉकडाउन के नियमों का पूरी तरह और सही ढंग से पालन नहीं किया है.

इसे भी पढ़ें: झूठा चीन छिपा रहा है आंकड़े, वहां 1.5 करोड़ लोगों के मरने की आशंका है!!

इसे भी पढ़ें: हिंद महासागर में चीन और पकिस्तान की हरकतें शुरू