अमेरिकी राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण में दिखेगी भारतीयता की छाप

20 जनवरी को अमेरिका में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) और नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस (Kamla Haris) के शपथ ग्रहण समारोह हैं. इस समारोह में भारतीयता की छाप देखने को मिलेगी. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jan 17, 2021, 06:41 PM IST
  • नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह में बनेगी रंगोली
  • कैपिटल हिल के सामने 1,800 लोग मिलकर बनाएंगे रंगोली
 अमेरिकी राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण में दिखेगी भारतीयता की छाप

नई दिल्ली: अमेरिका (America) के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) और नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस (Kamla Haris) के शपथ ग्रहण समारोह में भारतीय रंगोली देखने को मिलेगी.

दरअसल हैरिस की मां मूल रूप से तमिलनाडु (Tamil Nadu) की रहने वाली थीं और वहां रंगोली को कोलम के नाम से जाना जाता है. यह भारतीयों के लिए बड़ी उपलब्धि है कि अब देश में ही नहीं विदेशों में भी भारतीय संस्कृति को पहचान मिल रही है.

ये भी पढ़ें- नई अमेरिकी सरकार में भारतवंशियों का बोलबाला, 20 को मिली जगह

क्यों बनाई जाती है कोलम या रंगोली  

किसी भी नई काम की शुरुआत या शुभ दिन में रंगोली का अपना ही महत्व है. माना जाता है कि बिना रंगों के हर खुशी अधूरी है और यही वजह है कि हमारे यहां त्योहारों पर रंग-बिरंगी रंगोली बनाई जाती है. यह एक लोक कला है जो शुभअवसरों पर घर के फर्श को सजाने के लिए भी बनाई जाती है. रंगों के अलावा लोग फूलों की रंगोली भी बनाते हैं जिसे पुकोलम कहते हैं.  इसे मुख्य रूप से घर के द्वार पर बनाना शुभ माना जाता है.

ये भी पढ़ें- 'बिकाऊ' इमरान को उइगर मुसलमानों की फिक्र नहीं!

कैपिटल हिल के बाहर बनेगी रंगोली

पहले जानकारी सामने आई थी कि रंगोली को व्हाइट हाउस (White House) के बाहर बनाया जाएगा लेकिन बाद में इसे कैपिटल हिल (Capital Hill) के बाहर बनाने की अनुमति दी गई. बता दें कि वाशिंगटन डीसी में सुरक्षा के अभूतपूर्व प्रबंधों की वजह से यह अनुमति नहीं दी गई.

ये भी पढ़ें- जानिए, कौन हैं गरिमा वर्मा जिन्हें अमेरिकी सरकार में मिला अहम पद?

1,800 लोग मिलकर बनाएंगे रंगोली

रंगोली को भव्य रूप देने के लिए हजारों की संख्या में लोग पहुंच रहे हैं. अमेरिका (America) और भारत (India) के करीब 1,800 से अधिक लोग रंगोली का डिजाइन बनाने के लिए हिस्सा ले रहे हैं. इस कार्यक्रम से जुड़े मल्टीमीडिया कलाकार शांति चंद्रशेखर ने एक इंटरव्यू में कहा कि लोगों का मानना है कि कोलम सकारात्मक ऊर्जा और नई शुरुआत का प्रतीक है. इसमें विभिन्न समुदायों के सभी आयुवर्ग के लोग पर्यावरण के अनुकूल सामग्री से बनी रंगोलियां बनाने के लिए अपने-अपने घर से इस पहल में भाग लिया है.

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप, जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें-

Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=en_IN

iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़