close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कैलिफोर्निया के जंगलों में आग! अबतक 7 हजार 5 सौ 42 एकड़ का इलाका जलकर 'राख'

अमेरिका के कैलिफोर्निया के जंगलों में आग के तांडव ने तबाही मचा दी है. दो दिनों से आग ने विक्राल रूप धारण कर रखा है. हालात ये है कि अबतक 1 लाख लोग अपना घर छोड़ने को मजबूर हो गए हैं.

कैलिफोर्निया के जंगलों में आग! अबतक 7 हजार 5 सौ 42 एकड़ का इलाका जलकर 'राख'

नई दिल्ली: अमेरिका के कैलिफोर्निया के जंगलों में पिछले दो दिनों से भड़की आग ने विकराल रूप ले लिया है. आग इतनी तेज है कि ये हर घंटे करीब 800 एकड़ इलाके को अपनी चपेट में लेती जा रही है. कैलिफोर्निया प्रशासन के मुताबिक अब तक सैन फर्नांडो वैली में 7 हजार 5 सौ 42 एकड़ का इलाका जल कर राख हो चुका है.

बताया जा रहा है कि आग अब लॉस एंजिल्स शहर से महज़ 32 किमी दूर रह गई है. जिसके चलते करीब 1 लाख लोगों को अपना घर छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा है.

तेज हवाओं की वजह से लगी आग को कैलिफोर्निया की बड़ी आपदा घोषित किया गया है. इसे सैडलरिज फायर नाम दिया गया है. इस आग की शुरुआत सिलमर शहर से हुई. इसके बढ़ने की वजह सामने नहीं आ पाई है. लेकिन खबरों के मुताबिक तेज हवाओं और आद्रता की वजह से आग तेजी से फैलने लगी.

इसे बुझाने की कोशिशों में तेजी लाई गई पर शुक्रवार शाम तक पूरे इलाके की आग में से केवल 13 फीसदी आग पर ही काबू पाया जा सका. आग बुझाने के लिए 1000 दमकलकर्मी लगे हुए हैं. आग बुझाने के लिए करीब एक हजार दमकलकर्मियों को लगाया गया है. इसके अलावा हेलिकॉप्टर और विमानों के जरिए पानी का छिड़काव कर आग को खत्म करने की कोशिशें जारी हैं. इस आग से अबतक करीब 31 इमारतों को नुकसान पहुंच चुका है. जबकि, 20 हजार घरों के इसके चपेट में आने का खतरा है.

आग से हुआ भारी नुकसान

आग की वजह से कैलिफोर्निया में इन्फ्रास्ट्रक्चर को भी खासा नुकसान पहुंचा है. शुक्रवार को राज्य में तीन लाख से भी ज्यादा लोगों को बगैर बिजली के रहना पड़ा. दरअसल, आग के बीच बिजली सप्लाई जारी रहने से आग भड़कने के खतरे को देखते हुए पावर सप्लाई को रोकना पड़ा.

आग की वजह से ज्यादातर इलाकों में स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं. कुछ हाईवे और मेट्रो सेवाएं भी रोक दी गईं हैं. लॉस एंजिल्स फायर डिपार्टमेंट वहां के निवासियों से लगातार अपील कर रही है कि वे अपने घर छोड़कर सुरक्षित छिकानों पर पहुंचे.

उधर लॉस एंजिल्स की मुश्किल दोहरी है. इस शहर पर दूसरी आग का भी खतरा मंडरा रहा है. जो पूरब की ओर से शहर की ओर बढ़ रही है. इसे सैंडलवुड फायर कहा जा रहा है. इस आग से करीब 76 घरों और इमारतों को अबतक नुकसान पहुंच चुका है जबकि 89 साल की एक महिला की मौत आग से जलकर हो गई है.