• भारत में कोरोना के अब तक 918 मामले सामने आए, अब तक 19 लोगों की मौत हो चुकी है, 79 लोगों का सफल इलाज हुआ
  • कोरोना के सबसे ज्यादा मामले केरल और महाराष्ट्र में सामने आ रहे हैं, केरल में 167 और महाराष्ट्र में 186 लोग कोरोना प्रभावित
  • पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के 6,61,367 मामले सामने आ चुके हैं
  • कोरोना वायरस के कारण विश्व में अब तक 30,671 लोगों की मौत हो चुकी है, जबिक 1,41,464 लोग बचाए जा चुके हैं
  • कर्नाटक में कोरोना से प्रभावित लोगों की संख्या 76 पहुंच गई है. पिछले 22 घंटे में 12 नए मामले सामने आए हैं
  • उत्तर प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल 61 मामले, शनिवार को 11 मामले सामने आए जिसमें सबसे ज्यादा 9 मामले नोएडा में दिखे
  • महाराष्ट्र में कोराना वायरस के 9 नए मामले, मुंबई में 8 और नागपुर में 1 नया मरीज, कुल मामले 167 हुए
  • कोरोना वायरस से अबतक महाराष्ट्र में 5, गुजरात में 3, कर्नाटक में 2, मध्य प्रदेश में 2 लोगों की मौत हो चुकी है
  • तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, कश्मीर और हिमाचल में एक-एक मौतें हो चुकी हैं.

कोरोना की गिरफ्त में पूरी दुनिया, तो क्या सचमुच होने वाला है महाविनाश?

पूरी दुनिया को कोरोना नाम के वायरस ने अपनी गिरफ्त में ले लिया है. हर तरफ इस वायरस के कहर से त्राहिमाम मचा हुआ है. लेकिन कोई ये समझ नहीं पा रहा है कि इस विनाशकारी दुश्मन से आखिरकार कैसे निपटा जाए?

कोरोना की गिरफ्त में पूरी दुनिया, तो क्या सचमुच होने वाला है महाविनाश?

नई दिल्ली: पहले चीन फिर यूरोप के कई देश और अब अमेरिका कोरोना काल बनकर दुनिया के अलग-अलग देशों में अपना प्रकोप दिखा रहा है. वुहान से शुरू हुई ये महामारी अब दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क को अपनी चपेट में ले चुकी है और अमेरिका के पास भी इस बीमारी का कोई इलाज नजर नहीं आ रहा.

कोरोना का इंटरनेशनल अड्डा अमेरिका

एक हफ्ते पहले तक अमेरिका में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या सिर्फ 10 हजार थी. जो अब आंकड़ा 60 हजार को पार कर गया है. कोरोना की मार से अमेरिका भी बच नहीं पाया. अब हालात ऐसे हैं कि अमेरिका कोरोना वायरस का सबसे बड़ा अड्डा बनने की ओर बढ़ रहा है. अमेरिका के शहरों में कोरोना वायरस तेज़ी से अपनी जड़ें फैला रहा है. अमेरिका के छोटे-बड़े शहर और महानगर कोरोना वायरस के शिकंजे में फंसते ही जा रहे हैं.

अमेरिका में पिछले 24 घंटे में कोराना संक्रमण से 247 लोगों की मौत हुई है. जबकि कोरोना संक्रमित कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 69 हजार से अधिक हो गई है. अमेरिका में कोरोना से हुई मौतों की कुल संख्या 1000 के आंकड़े को पार कर चुकी है जबकि अमेरिका में शुरूआती वक्त से ही मेडिकल इमरजेंसी लागू थी.

इटली में जारी है कोरोना का "काल तांडव"

इटली में भी मौत का आंकड़ा कम होने का नाम नहीं ले रहा, ना हीं अधिकरतर जगहों पर लोगों के स्वस्थ होने की खबर ही आ रही है इटली में कोरोना से बढ़ती मौत का आंकड़ा 8000 को छू चुका है. जो उससे पीछे चल रहे मुल्कों की तुलना में सीधे दोगुना है और ये आंकड़ा जिस तेजी से आगे बढ़ रहा है उससे ये साफ है कि चुनौती इटली के खत्म नहीं हुई है.

स्पेन  में भी लगातार बढ़ रही है मरने वालों की संख्या

इटली के बाद कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित स्पेन है, यहां भी मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है. बृहस्पतिवार को यहां एक दिन में 498 लोगों की मौत हुई. जिसके बाद मरने वालों की संख्या 4000 के ऊपर चली गई. यूरोप के इस देश में अब तक 56 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं.

फ्रांस में कोरोना से करीब 1700 लोगों ने जान गंवाई

फ्रांस में 16 वर्षीय बच्चे की मौत के साथ एक दिन में 365 लोगों की जान गई. मरने वालों की संख्या बढ़कर 1696 हुई और हैरानी की बात ये कि फ्रांस शुरूआती वक्त से कोरोना से बचने के लिए कई जरूरी कदम उठा चुका था. लेकिन फिर भी यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी ही देखने को मिल रही है.

युनाइटेड किंगडम में 500 से ज्यादा लोगों की मौत

यूरोप के हर देश को कोरोना लगातार अपनी चपेट में लेता जा रहा है और ऐसे में यूके में पहली बार एक दिन में सौ से अधिक मौत के मामले सामने आए हैं.  यहां भी मृतकों की संख्या 500 के आंकड़े को पार कर चुकी है.

कोरोना से दुनिया भर में अब तक 22 हज़ार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. इटली में सबसे ज़्यादा यानी करीब 8 हजार  लोगों की मौत की खबर है. मौत के मामले में स्पेन भी चीन से आगे निकल गया है. स्पेन में 4 हजार से ज्यादा लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हुई है.

इसे भी पढ़ें: शुरू हो गया तीसरा विश्व युद्ध! "अदृश्य दुश्मन" दुनिया को अकेले कर देगा तबाह?

कोरोना वायरस पर अपनी रिपोर्ट में WHOने कहा है कि लॉकडाउन से खतरा भले ही कम हो जाएगा लेकिन पूरी तरह खत्म नहीं होगा...इसके लिए सभी देशों को अपने हेल्थ केयर सिस्टम को और मजबूत बनाना होगा 

इसे भी पढ़ें: दो महीने में भारत में आ सकते हैं 13 लाख मामले

इसे भी पढ़ें: कोरोना लॉकडाउन के दौरान घर पर रहकर बोर हो गए हैं तो आजमाएं ये तरीके