• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 77,103 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,38,845: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 57,721 जबकि अबतक 4,021 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • भारतीय रेलवे 2813 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं, इसमें 37 लाख से भी अधिक यात्रियों ने सफर किया
  • 571 लाइफलाइन उड़ानों ने 5,17,951 किलोमीटर की दूरी तय कर 917 टन मेडिकल और आवश्यक कार्गो का परिवहन किया
  • पिछले 24 घंटों में कुल 1.08+ लाख नमूनों का परीक्षण किया गया। कुल परीक्षणों की संख्या 29.43+ लाख के पार: आईसीएमआर
  • गृह मंत्रालय ने विदेशों में फंसे भारतीय नागरिकों और भारत में फंसे विदेश जाने को इच्छुक व्यक्तियों के लिए SOP जारी किया
  • इग्नू, एमएचआरडी अपने ओडीएल (ओपन एंड डिस्टेंस लर्निंग) कोर्सेज के 59 पाठ्यक्रमों को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों में परिवर्तित करेगा
  • कोविड-19 से संबंधित मदद, मार्गदर्शन और कार्रवाई के लिए राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर 1075 पर कॉल करें
  • तथ्य: आरोग्य-सेतु ऐप में कोई इनबिल्ट सायरन नही है, कोविड-19 मरीज के संपर्क में आने पर यह आपको अलर्ट देता है

'ड्रैगन' के इन 4 'बड़े गुनाहों' के कारण 'कोरोना संकट' से जूझ रही दुनिया

चीन के चार बड़े गुनाह सामने आए हैं, चीन के इन चार गुनाहों की सज़ा आज पूरी दुनिया भुगत रही है. आपको भी इस खास रिपोर्ट के माध्यम से चीन पर ये चार बड़े खुलासे से जरूर रूबरू होना चाहिए, जिनको लेकर चीन अब बैकफुट पर है...

'ड्रैगन' के इन 4 'बड़े गुनाहों' के कारण 'कोरोना संकट' से जूझ रही दुनिया

नई दिल्ली: चीन में कोरोना वायरस पर चमत्कार हो रहा है. वहीं इटली, अमेरिका में कोरोना वायरस से हाहाकार मच रहा है. चीन के वुहान में ज़िंदगी पटरी पर लौट रही है. वहीं, दूसरे देशों में ज़िंदगी जहन्नुम बन गई है.

'कोरोना नहीं चीनी वायरस'

आपको याद होगा कि अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप डोनाल्ड ट्रंप का वो बयान  जिसमें उन्होंने कोरोना वायरस के जन्मदाता देश चीन को खरी-खोटी सुनाते हुए कहा था कि कोरोना वायरस असल में चीनी वायरस है.

कोरोना पर चीन का नियंत्रण या 'ड्रैगन' की साज़िश कुछ और?

ट्रंप के इस बयान से चीन को मिर्ची तगड़ी वाली लगी थी, तब चीन ने ऐसे बर्ताव किया था, जैसे उसकी कोई गलती ही नहीं है. लेकिन अब चीन की ऐसे चार गुनाह सामने आ गई हैं. जिनकी सज़ा पूरी दुनिया भुगत रही है.

दुनिया को कोरोना संकट में डालने वाली चीन की अब चार बड़े गुनाहों का पूरा हिसाब देखिए...

पहला गुनाह- कोरोना के बारे में बताने में देरी की

1 दिसंबर को वुहान में पहले केस का पता चला, चीन ने दुनिया को जनवरी में जाकर बताया. ब्रिटेन की साउथैम्पटन यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों का मानना है कि इसका नतीजा ये हुआ कि 3 हफ्ते देरी से कोरोना वायरस के बारे में बताने के कारण ये संक्रमण पूरी दुनिया में 95% तक फैल गया.

अब आपको कोरोना नाम के जुर्म का जन्म देने वाले चीन की दूसरा बड़ा गुनाह बताते हैं.

दूसरा गुनाह- एक महीने तक नहीं माना कि ये वायरस इंसान से इंसान में फैलता है

शुरुआत में वुहान के दो डॉक्टरों में कोरोना का संक्रमण मिला था, उन्होने खुद को क्वारंटाइन कर लिया था, तब तक ये बात चीन ने सबसे छिपाई और 20 जनवरी को जाकर माना कि ये वायरस इंसान से इंसान में फैलता है.

इसका नतीजा ये हुआ कि दुनियाभर में अंतरराष्ट्रीय उड़ानें जारी रहीं. लोग एक देश से दूसरे देश आते-जाते रहे और इससे पूरे विश्व में कोरोना वायरस फैलता चला गया.

तीसरा गुनाह- 7 हफ़्ते बाद वुहान को किया लॉकडाउन

ये चीन का तीसरा बड़ा गुनाह था, चीन ने 23 जनवरी को वुहान को लॉकडाउन किया. यानी वुहान में वायरस के आने के क़रीब डेढ महीने बाद नतीजा ये हुआ कि वुहान के मेयर झोऊ शियानवेंग के मुताबिक लॉकडाउन से पहले ही वुहान से क़रीब 50 लाख लोग कहां चले गए, अबतक नहीं पता.

चौथा गुनाह- चीन ने कड़ी कार्रवाई नहीं की

विदेशों में ख़ासकर इटली में रहने वाले चीनी नागरिक जो नया साल मनाने चीन आए थे, वो वापस इटली लौट गए. उन्हें रोका तक नहीं गया, इटली में सबसे ज़्यादा चीनी पर्यटक भी आते हैं, इटली में 3 लाख चीनी लोग काम करते हैं. इनपर वुहान में रहते वक्त कोई एक्शन नहीं लिया गया. 

नतीजा ये हुआ कि इटली में आज चीन से कहीं ज्यादा संक्रमित मामले हैं. इटली में मौतें भी चीन से पांच गुना ज़्यादा हो चुकी हैं और इटली आज चीन से कहीं ज़्यादा कोरोना वायरस की मार से बेहाल है. अमेरिका से लेकर पूरा यूरोप और भारत भी परेशान है.

इसे भी पढ़ें: मोदी विरोध की मीडियाना साजिश: इन्डो-अमेरिका सम्बन्ध बिगाड़ने की कोशिश

सोमवार को चीन में कोरोना वायरस की वजह से एक भी मौत नहीं हुई. जनवरी के बाद ऐसा पहली बार हुआ है. जिस वुहान से कोरोना की शुरुआत हुई. वहां अब कारखाने खुल रहे हैं, लोग काम पर लौट रहे हैं. चीन में लॉकडाउन जैसी स्थिति को हटाया जा रहा है और हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: आपके हर सवाल का माकूल जवाब! जानिए, लॉकडाउन से जुड़ी 10 बड़ी बातें

इसे भी पढ़ें: कोरोना के खिलाफ सेना की 'स्ट्राइक'! शूरवीर जवानों की देशभक्ति को सलाम