हगिबीस 'महातूफान' से सहमा जापान! 60 साल पहले इसी तूफान से मारे गए थे 1200 लोग

जापान में शनिवार को बुलेट ट्रेन की रफ्तार से भी तेज 'महातूफान' ने दस्तक दी जिससे पूरा जापान कांप उठा. 60 साल पहले साल 1958 में इसी हगिबीस तूफान ने 1200 लोगों की जान लील ली थी

हगिबीस 'महातूफान' से सहमा जापान! 60 साल पहले इसी तूफान से मारे गए थे 1200 लोग

बेहद शक्तिशाली चक्रवाती तूफान 'हगिबीस' ने जापान में शनिवार को दस्तक दी. तो चारों तरफ सिर्फ और सिर्फ तबाही का मंजर दिखने लगा. तेज हवा आसमान से ऐसी आफत बरसी. तेज हवाओं और भारी बारिश के चलते कई इलाकों में बाढ़ आ गई. तूफान के डर से जापान के रेलवे स्टेशन ठप हो गए, गलियां सुनसान नजर आने लगी और दहशत के मारे लोग अपने घरों में ही कैद हो गए. जापान के मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार शाम वहां 144 किलोमीटर की रफ्तार से हवाएं चल रही थीं.

  • इस महातूफान से अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है
  • करीब 149 से ज्यादा लोग घायल हैं और कई लोग लापता बताए जा रहे हैं
  • अब तक 73 लाख लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर शिफ्ट किया जा चुका है

60 साल बाद 'हगिबीस' तूफान के कहर

बताया जा रहा है 60 सालों में ये सबसे शक्तिशाली तूफान है. इससे पहले साल 1958 में आए हगिबीस तूफान में लगभग 1200 लोग मारे गए थे. ऐसे में इस तूफान से पूरा जापान सहमा हुआ है. लोग इस खौफ के साए में जीने को मजबूर हो गए हैं कि कहीं, कुदरत 60 साल बाद वैसा ही सितम ना ढा दे.

कुदरत की विनाशलीला से घर-दुकान तबाह

हेगीबिस राजधानी टोक्यो के दक्षिण-पश्चिम में इज़ु प्रायद्वीप की मुख्य भूमि पर स्थानीय समयानुसार शाम 7 बजे के आसपास टकराया. इस तूफान से देश के प्रमुख द्वीप होंशू में भूस्खलन की आशंका जताई जा रही है. होंशू द्वीप के शहर चिबा में इसका तांडव अभी भी जारी है. जहां हवा के तेज झोंकों के चलते यहां के कई घरों की छतें उड़ गईं और लोगों को भी हगिबीस ने अपनी चपेट में ले लिया.

आपको बताते हैं जिस हगिबीस तूफान ने जापान में तबाही मचा रखी है वो 'हगिबीस' नाम फिलीपींस ने दिया है. वहां की भाषा में इसका मतलब 'रफ्तार' होता है.

मौसम विभाग की माने तो ये तूफान होंशू की ओर से प्रशांत महासागर के ऊपर से उत्तरी क्षेत्र की ओर तेजी से बढ़ रहा है. जापान की मौसम अथॉरिटी ने भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. वहीं जापान की राजधानी टोक्यो, इजू और शिलुओका प्रांत में भूस्खलन के लिए इमरजेंसी जारी की है.