अमेरिका की सीधी घोषणा - चीन से हुई टक्कर तो देंगे भारत का साथ

चीन को साफ-साफ समझ में आ गया है कि भारत से भिड़ना उसे बहुत भारी पड़ने वाला है. भारत अकेला ही उसे नाकों चने चबाने की सामर्थ्य रखता है औक ऐसे में अगर अमेरिका ने भी चीन पर हमला कर दिया तो चीन बरबाद हो जायेगा..  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 7, 2020, 07:40 PM IST
    • भारत के समर्थन में अमेरिका से आया बयान
    • 'अमेरिका सेना निभायेगी रिश्ते'
    • 'अमेरिका तमाशबीन देश नहीं है'
अमेरिका की सीधी घोषणा - चीन से हुई टक्कर तो देंगे भारत का साथ

नई दिल्ली. अमेरिका किसी भी तरह की गलतफहमी में नहीं है न ही उसने चीन को किसी गलतफहमी का कोई मौका दिया है. उसने साफ तौर पर ऐलान कर दिया है कि भारत से भिड़ा चीन तो अमेरिका का कोप टूटेगा चीन पर और उसके बाद दो तरफा मार होगी चीन पर.

 

मार्क मीडोज़ का आया बयान

अमेरिका से मार्क मीडोज़ ने ये बयान देकर चीन के कान खड़े कर दिये हैं. मीडोज़ ने साफ कर दिया कि भारत और चीन के बीच संघर्ष की स्थिति पैदा होने पर अमेरिका भारत का साथ देगा. मार्क मीडोज़ व्हाइट हाउस के चीफ आफ स्टाफ हैं और उनका ये बयान उस समय आया है जब दक्षिण चीन सागर में अमेरिकी उपस्थिति को मजबूत करने के लिए दो अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर वहां तैनात कर दिये गये हैं.

'अमेरिका सेना निभायेगी रिश्ते'

जो महत्वपूर्ण संदेश मार्क मीडोज के बयान में नजर आया वो ये था - अमेरिक की सेना अपने रिश्तों को निभायेगी और उसके लिये मजबूती के साथ डटी रहेगी. उन्होंने कहा कि चाहे चीन भारत से भिड़े या दुनिया में कहीं किसी और संघर्ष को अंजाम दे, हम अपनी बात पर अटल हैं और हमारा संदेश बिलकुल साफ है.

'अमेरिका तमाशबीन देश नहीं है'

मार्क मीडोज के इस संदेश से अमेरिका के साथ खड़े होने का दृढ़ संकल्प स्पष्ट होता है जब उन्होंने कहा कि अमेरिका  तमाशबीन देश नहीं है और अमेरिका किसी महाशक्ति को बागडोर संभालते नहीं देख सकते. चाहे यह संघर्ष दक्षिण एशिया में भारत के खिलाफ पैदा किया गया हो या दुनिया में कहीं और, हम ऐसा होने नहीं देंगे और हमारा ये संदेश बिलकुल स्पष्ट है.

ये भी पढ़ें. एलएसी पर भारतीय वायुसेना का मिड-नाइट ऑपरेशन

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़