Taiwan में अमेरिका चीन युद्ध के लिये आमने सामने, पहुंच रही है रूस की सेना भी

ताइवान को धमका रहा है चीन कि अमेरिका से दूर रहो, तो अमेरिका ने भी अपने जंगी जहाज़ों को भेज कर चीन को धमकाया है कि ताइवान से दूर रहो..  

Taiwan में अमेरिका चीन युद्ध के लिये आमने सामने, पहुंच रही है रूस की सेना भी

नई दिल्ली.  ये जंग बड़ी हो सकती है या कहें बहुत बड़ी हो सकती है. ताइवान को धमकाने वाले चीन को धमकाया है अमेरिका ने. अमेरिका की ताइवान से दोस्ती चीन के कलेजे पर सांप बन कर लोट रही है इसलिए ताइवानी क्षेत्र के आसपास मामला बहुत तनावपूर्ण नज़र आ रहा है.

रूस भी भेज रहा है सेना

एक तरफ तो ताइवान क्षेत्र के आसपास अमेरिका और चीन के बीच जंग छिड़ने का खतरा दिखाई दे रहा है तो दूसरी तरफ रूस भी इस इलाके में सेना भेजने जा रहा है. चीन तथा अमेरिका के मध्य निरंतर तनाव बढ़ता देख रूस भी सतर्क हो गया है और उसकी सतर्कता से क्षेत्र में तनाव और बढ़ गया नज़र आ रहा है, क्योंकि ज़ाहिरा तौर पर वह अमेरिका के खिलाफ ही अपनी उपस्थिति दर्ज कराना चाह रहा है.

रूसी रक्षा मंत्री का आया बयान

ताइवानी क्षेत्र में चीन तथा अमेरिका के मध्य लगातार बढ़ रहे तनाव से दुनिया के दूसरे देशों में भी बेचैनी देखी जा रही है. अमेरिका विरोधी देश रूस ने भी इस क्षेत्र में अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ाने का निर्णय लिया है. इस संबंध में रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू का बयान आया है जिसमे उन्होंने बताया है कि सुदूर पूर्व में ताइवानी क्षेत्र में बढ़ते तनाव पर रूस की नज़र है और वह इस क्षेत्र के आसपास अपनी सैन्य उपस्थिति में वृद्धि कर रहा है.

किसी भी देश का नाम नहीं लिया

अपने बयान में रूसी रक्षा मंत्री ने एक सावधानी का परिचय दिया है. रूसी रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट बताती है कि सर्गेई शोइगू ने कहा कि अपने वक्तव्य में किसी देश का नाम नहीं लिया. उन्होंने बस इतना ही मूल संदेश दिया कि पूर्वी क्षेत्र में तनाव बढ़ने की स्थिति को ध्यान में रख कर रूस अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ाने जा रहा है. इस स्थिति को देख कर माना जा रहा है कि इस क्षेत्र में अपने हितों की सुरक्षा को  नज़र में रख कर रूस इस तरह का कदम उठाने जा रहा है.

ये भी पढ़ें. Nigeria में बलात्कारी बनाये जाएंगे नपुंसक, बच्चियों के दुष्कर्मी को प्राणदंड