होगी भगोड़े की वापसी? Nawaz Sharif सियासत की दूसरी पारी खेलने को इच्छुक

ये खबर पाकिस्तान के लिहाज़ से बहुत अहम है. जिस नवाज़ शरीफ को पाकिस्तान में मौत की सजा सुनाई गई है वही अब पाकिस्तानी विपक्ष के साथ मिल कर फिर से तैयारी कर रहा है पाकिस्तानी सियासत में वापसी की..

होगी भगोड़े की वापसी? Nawaz Sharif सियासत की दूसरी पारी खेलने को इच्छुक

नई दिल्ली. पाकिस्तान में विपक्ष एकजुट हो रहा है. और बड़ी बात ये है कि विपक्ष की मंशा इमरानी सरकार गिराने की है. इमरान के खिलाफ पाकिस्तान का सियासती विपक्ष एक हो गया है और इसमें उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ को भी साथ आने का न्योता दिया है. आज 20 सितंबर को होने वाली बिलावल भुट्टो की रैली में नवाज शरीफ वर्चुअल तौर पर शामिल होंगे.

आज है आल पार्टी मीटिंग 

पाकिस्तान में आज रविवार 20 सितंबर एक बड़ा दिन है. इमरान के खिलाफ एक हुए विपक्ष ने आज आल पार्टी मीटिंग बुलाई है. इस कॉन्फ्रेन्स में जहां एक तरफ देश भर की राजनीतिक पार्टियां एक झंडे के तले एकत्र हो रही हैं वहीं इस बड़े आंदोलन को शक्ति प्रदान करने के लिए बड़े नेताओं को भी शामिल किया गया है और नवाज़ शरीफ भी इस लिहाज से इसके एक मजबूत किरदार के तौर पर आंदोलन में साथ लिए गए हैं.

मांगेंगे इमरान से इस्तीफा 

इमरान सरकार के लिए बुरी खबर इस लिहाज से है कि एक तरफ तो इस सम्पूर्ण विपक्ष एकता के झंडे तले खड़े पाकिस्तानी सियासतदार प्रधानमंत्री इमरान खान का इस्तीफा मांगेंगे और दूसरे लिहाज से ये खबर इसलिए भी बुरी है कि इमरान के दुश्मन नंबर एक नवाज़ शरीफ भी इस सरकार उखाड़ो आंदोलन का हिस्सा बनाये गए हैं. नवाज़ लंदन से इस आंदोलन में डिजिटल तौर पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे. 

जरदारी की है समझदारी 

इमरान सरकार के खिलाफ इस तरह से विपक्ष के एकजुट होने की समझदारी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के चेयरमैन बिलावल भुट्टो जरदारी के दिमाग की उपजह है. वे पिछले चार माह से इमरान के खिलाफ विपक्ष को एक करने की कोशिश में लगे हुए हैं. इस कोशिश में ही कई बार उन्होंने नवाज़ शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज से भी मुलाकात की है. इतना ही नहीं पाकिस्तान के विपक्ष के कद्दावर नेता मौलाना फजल-उर-रहमान भी बिलावल और नवाज के साथ खड़े हैं.

ये भी पढ़ें. America ने बताया दुनिया में इस्लामिक स्टेट फैलता जा रहा है