किसानों ने किया विजय सांपला के खिलाफ प्रदर्शन, तनाव देखते हुए कार्यक्रम किया रद

गांव दादू में आज किसानों ने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के चेयरमैन विजय सांपला के प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर अपना विरोध जताया.

किसानों ने किया विजय सांपला के खिलाफ प्रदर्शन, तनाव देखते हुए कार्यक्रम किया रद
सिरसा में विजय सांपला के विरोध में किसानों ने जमकर नारेबाजी की.

विजय कुमार/ सिरसा : गांव दादू में आज किसानों ने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के चेयरमैन विजय सांपला के प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर अपना विरोध जताया. किसानों द्वारा विरोध प्रदर्शन किए जाने की जानकारी मिलने पर विभिन्न थानों की पुलिस, आरएएफ की टुकड़ी दादू में तैनात कर दी गई, जिसके चलते दादू गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया.

डबवाली के डीएसपी कुलदीप सिंह ने प्रदर्शन कर किसानों को समझाने का प्रयास किया, परंतु किसान अपनी बात पर अड़े रहे कि भाजपा नेता को गांव में घुसने नहीं देंगे.  किसानों का प्रदर्शन शाम तक चलता रहा. विरोध के कारण विजय सांपला वहां नहीं पहुंचे. 

दरअसल विजय सांपला ने दादू गांव में हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष बलजीत सिंह दादूवाल से मिलने के लिए पहुंचना था. यहां पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनजर दोनों के बीच बातचीत की संभावना थी. 

विजय सांपला के प्रस्तावित कार्यक्रम के दौरान किसानों द्वारा विरोध प्रदर्शन किए जाने की जानकारी मिलने पर विभिन्न थानों की पुलिस, आरएएफ की टुकड़ी तैनात की गई. पुलिस ने दादूवाल के गुरुद्वारे के चारों तरफ सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए हुए थे.

WATCH LIVE TV

इसके अलावा एसडीएम कालांवाली विजय सिंह, डीएसपी डबवाली कुलदीप सिंह , नायब तहसीलदार रामनिवास भी मौके पर पहुंच गए. प्रदर्शनकारी किसानों ने हाथों में काले झंडे लिए हुए थे और सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे.

तीन कृषि कानून खत्म होने तक करेंगे प्रदर्शन 

किसान नेता लखविंद्र सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा लागू किए गए तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का संघर्ष लगातार जारी है और गांवों में भी भाजपा नेताओं का विरोध किया जा रहा है. उन्होंने आरोप लगाया कि संत बलजीत सिंह दादूवाल भाजपा नेता को बुलाकर गांव में माहौल खराब कर रहा है. उन्होंने कहा कि जब तक तीन कृषि कानूनों को रद नहीं किया जाता, तब तक किसानों का रोष प्रदर्शन जारी रहेगा और भाजपा व जेजेपी नेता को गांव में घुसने नहीं दिया जाएगा