Ranjit Singh Murder Case: राम रहीम समेत पांच दोषियों की सजा पर अब 18 अक्टूबर को होगा फैसला

शुरुआत में राम रहीम का नाम शामिल नहीं किया गया था, लेकिन 2006 में ड्राइवर खट्टा सिंह के बयान के आधार पर डेरा प्रमुख राम रहीम का नाम इस हत्याकांड से जुड़ गया था. 8 अक्टूबर को कोर्ट ने पांचों को हत्या और आपराधिक साजिश रचने का दोषी पाया था.

Ranjit Singh Murder Case: राम रहीम समेत पांच दोषियों की सजा पर अब 18 अक्टूबर को होगा फैसला

पंचकूला : वर्ष 2002 के रणजीत सिंह हत्याकांड में सीबीआई की विशेष अदालत ने मंगलवार को डेरा प्रमुख राम रहीम समेत पांच दोषियों की सजा पर फैसले को 18 अक्तूबर तक सुरक्षित रख लिया. फैसले के बाद हालात के मद्देनजर पंचकूला में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए थे. शहर की सुरक्षा में करीब 700 जवान तैनात किए गए थे. जिले में धारा-144 लागू रही. 

कोर्ट में राम रहीम की पेशी रोहतक की सुनारिया जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ही हुई, जबकि चार अन्य दोषी कृष्ण कुमार, अवतार, जसवीर और सबदिल को कोर्ट के सामने पेश किया गया. पेशी के दौरान राम रहीम ने अपने आठ पेज के बयान में जनहित व अपने  सामाजिक कार्यों के आधार पर सजा में राहत देने की अपील की.

WATCH LIVE TV 

10 जुलाई 2002 को रणजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. जांच से असंतुष्ट रणजीत सिंह के बेटे जगसीर सिंह की याचिका पर हाईकोर्ट ने जांच सीबीआई को सौंप दी थी. मामले की जांच करते हुए सीबीआई ने राम रहीम समेत पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था.

इस मामले में शुरुआत में राम रहीम का नाम शामिल नहीं किया गया था, लेकिन 2006 में ड्राइवर खट्टा सिंह के बयान के आधार पर डेरा प्रमुख राम रहीम का नाम इस हत्याकांड से जुड़ गया था. 8 अक्टूबर को कोर्ट ने राम रहीम और कृष्ण कुमार, अवतार, जसवीर और सबदिल को हत्या और आपराधिक साजिश रचने का दोषी पाया था.