BMC ने दफ्तर पर चलाया बुलडोजर तो कंगना ने महाराष्ट्र सरकार की बाबर से तुलना की

कंगना ने मुंबई स्थित अपने ऑफिस की कुछ फोटो ट्वीट करके बीएमसी के अधिकारियों की तुलना बाबर और उसके परिवार से की है. इससे पहले उन्होंने एक ट्वीट करके महाराष्ट्र सरकार निशाना साधा.

BMC ने दफ्तर पर चलाया बुलडोजर तो कंगना ने महाराष्ट्र सरकार की बाबर से तुलना की
कंगना ने मुंबई स्थित अपने ऑफिस की कुछ फोटो ट्वीट करके बीएमसी के अधिकारियों की तुलना बाबर और उसके परिवार से की है. इससे पहले उन्होंने एक ट्वीट करके महाराष्ट्र सरकार निशाना साधा.

चंडीगढ़/मुंबई: कंगना चंडीगढ़ से मुंबई के लिए उड़ान भरने वाली हैं. इस बीच बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (बीएमसी) उनके दफ्तर में दूसरा नोटिस चस्पा कर दिया है. बीएमसी की टीम भारी अमले के साथ कंगना के दफ्तर के बाहर पहुंची है. टीम ने उनके ऑफिस के अवैध निर्माण वाले हिस्से को तोड़ना शुरू कर दिया है. इस पर कंगना ट्वीट करके नाराजगी जताई और इसे लोकतंत्र की हत्या बताया है. 

 

कंगना ने मुंबई स्थित अपने ऑफिस की कुछ फोटो ट्वीट करके बीएमसी के अधिकारियों की तुलना बाबर और उसके परिवार से की है. इससे पहले उन्होंने एक ट्वीट करके महाराष्ट्र सरकार निशाना साधा. कंगना ने लिखा कि मेरे मुंबई पहुंचने से पहले महाराष्ट्र सरकार और उसके गुंडे मेरी प्रॉपर्टी को अनाधिकारिक रूप से तोड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह महाराष्ट्र के सम्मान के लिए अपना खून तक देंगी.

कंगना चंडीगढ़ एयरपोर्ट पहुंच गई हैं. थोड़ी देर में वो मुंबई के लिए निकलेंगी. दोपहर 2 बजकर 50 मिनट पर वह मुंबई पहुंचेंगी. कगंना रनौत जैसे ही चंडीगढ़ एयरपोर्ट पहुंची वो सुरक्षा घेरे के बीच चलती हुई दिखाई दी थीं.

Y प्लस सिक्योरिटी

पिछले कई दिनों से कंगना और शिवसेना के बीच जुबानी जंग चल रही है. कंगना ने कहा था कि मुंबई में उन्हें सुरक्षित नहीं महसूस होता और उन्हें मुंबई पीओके की तरह लगता है. इसके बाद शिवसेना नेता ने उन्हें मुंबई न आने की चेतावनी दी थी. बस यहीं से मामला बढ़ता चला गया. अब कंगना को राज्य सरकार के निवेदन पर केंद्र सरकार ने Y प्लस सिक्योरिटी दी है. 

'जय महाराष्ट्र, जय शिवाजी'

कंगना बेबाकी से अपनी राय रखने के लिए जानी जाती हैं. बुधवार को ही उन्होंने ट्वीट किया, रानी लक्ष्मीबाई के साहस, शौर्य और बलिदान को मैंने फ़िल्म के जरिए जिया है. दुख की बात यह है मुझे मेरे ही महाराष्ट्र में आने से रोका जा रहा है. मैं रानी लक्ष्मीबाई के पद चिन्हों पर चलूंगी ना डरूंगी, ना झुकूंगी. गलत के ख़िलाफ़ मुख़र होकर आवाज़ उठाती रहूंगी, जय महाराष्ट्र, जय शिवाजी.