लॉरेंस बिश्नोई-संपत नेहरा गैंग का शूटर गिरफ्तार, दिल्ली जेल को लेकर किया ये बड़ा खुलासा

पुलिस टीम गश्त के दौरान टैक्सी स्टैंड पुराना लघु सचिवालय पर मौजूद थी कि उसी समय नहर कॉलोनी हिसार की तरफ से एक युवक आता दिखाई दिया. शक होने पर पुलिस ने उसे पकड़कर पूछताछ की. आरोपी के पास से एक अवैध पिस्तौल और दो कारतूस बरामद किए गए.

लॉरेंस बिश्नोई-संपत नेहरा गैंग का शूटर गिरफ्तार, दिल्ली जेल को लेकर किया ये बड़ा खुलासा
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी सुनील.

रोहित कुमार/हिसार : जिले की स्पेशल स्टाफ पुलिस ने उप निरीक्षक विरेंद्र सिंह के नेतृत्व में लॉरेंस बिश्नोई व संपत नेहरा गैंग के शार्प शूटर सुनील को हिसार के टैक्सी स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया. पुलिस को यह कामयाबी तब मिली, जब वह रुटीन गश्त कर रही थी. पकडे जाने के बाद जब पुलिस ने उससे सख्ती से पूछताछ की तो उसने एक ऐसा खुलासा किया, जिसे सुन पुलिस के होश उड़ गए. 

उप निरीक्षक विरेंद्र सिंह ने बताया कि एक पुलिस टीम गश्त के दौरान टैक्सी स्टैंड पुराना लघु सचिवालय पर मौजूद थी कि उसी समय नहर कॉलोनी हिसार की तरफ से एक युवक आता दिखाई दिया. पुलिस को देखकर वह तेज-तेज कदमों से लौटने लगा. शक होने पर पुलिस ने उसे पकड़कर पूछताछ की.

उसने अपनी पहचान इंदिरा कॉलोनी, राजगढ़ जिला चूरू ( राजस्थान ) निवासी सुनील कुमार के रूप में बताई. सुनील के पास से एक अवैध पिस्तौल और दो कारतूस बरामद किए गए. सुनील के खिलाफ थाना सिविल लाइन हिसार में आर्म्स एक्ट के अंतर्गत केस दर्ज किया गया है. 

आरोपी सुनील ने बताया कि वह लॉरेंस बिश्नोई-संपत नेहरा गैंग के लिए काम करता है. करीब चार साल पहले चूरु निवासी संपत नेहरा से बातचीत हुई थी, जो लॉरेंस बिश्नोई गैंग के साथ काम करता था. इसके बाद उसने भी गैंग ज्वाइन कर लिया. संपत नेहरा को पुलिस ने पकड़ लिया और वह अभी दिल्ली जेल में बंद है. 

WATCH LIVE TV

 

सुरक्षाकर्मियों की वजह से बचा नरेंद्र पहाड़सर 

सुनील ने बताया कि मेरी व संपत नेहरा की नरेंद्र व पवन पहाड़सर से दुश्मनी चलती आ रही है. नरेंद्र पहाड़सर को राजस्थान पुलिस से गनमैन मिले हुए हैं.  संपत नेहरा के कहने पर मैंने कई बार नरेंद्र पहाड़सर के मर्डर के लिए उसकी  रेकी की, लेकिन पुलिस के गनमैन होने के कारण वह सफल नहीं हो पाया. यह बात उसने संपत नेहरा को बताई. 

घर वालों से झगड़ा कर आया था

संपत ने उससे पहले पवन पहाड़सर की रेकी करने को कहा. साथ ही मुझे गगोर निवासी दिनेश सहारण, राधाबड़ी निवासी टोनी नेहरा व करनाल निवासी प्रिंस राणा के साथ मिलकर पूर्व विधायक मनोज के भाई नांगली निवासी नेपू राजपूत और इसके बाद पवन उर्फ पौना पहाड़सर का मर्डर करने को कहा.

पुलिस ने बताया कि आरोपी सुनील कुमार आज अपने घर वालों से  झगड़ा कर हिसार आया था और उसे अपने अन्य साथियों से मिलना था, लेकिन उसके पहले ही पुलिस ने उसे धर दबोचा.