लाहौल-स्पीति में ट्रैकिंग व पर्वतारोहण पर प्रशासन ने लगाई रोक, जानें वजह

लाहौल-स्पीति जिले की भौगोलिक परिस्थितियों और आने वाले सर्दी के मौसम के दृष्टिगत उपायुक्त नीरज कुमार ने एक आदेश जारी करते हुए समूचे जिले में ट्रैकिंग और पर्वतारोहण से जुड़ी गतिविधियों को प्रतिबंधित कर दिया है. 

लाहौल-स्पीति में ट्रैकिंग व पर्वतारोहण पर प्रशासन ने लगाई रोक, जानें वजह

संदीप सिंह/लाहौल-स्पीतिः लाहौल-स्पीति जिले की भौगोलिक परिस्थितियों और आने वाले सर्दी के मौसम के दृष्टिगत उपायुक्त नीरज कुमार ने एक आदेश जारी करते हुए समूचे जिले में ट्रैकिंग और पर्वतारोहण से जुड़ी गतिविधियों को प्रतिबंधित कर दिया है. जारी किए गए आदेश में स्पष्ट किया गया है कि ट्रैकिंग और पर्वतारोहण के शौकीन अक्सर इस मौसम में भी जिले का रुख करते हैं.

क्योंकि, इस दिनों में मौसम में कभी भी बदल जाता है और ट्रैकर या पर्वतारोही की जान का खतरा भी पैदा हो सकता है. ऐसे में खोज एवं बचाव अभियान को अंजाम देने में भी कई तरह की परेशनियां आती हैं. इन परिस्थितियों के मद्देनजर उपायुक्त ने आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 34 के तहत यह आदेश जारी किए हैं जो आगामी आदेश तक जारी रहेंगे.

ये भी पढ़ेंः वैक्सीन की डबल डोज-RTPCR की रिपोर्ट के बिना नहीं उठा पाएंगे दशहरा उत्सव का लुत्फ

आदेश की अवहेलना होने की सूरत में नियमानुसार कार्रवाई भी हो सकती है. आदेश की प्रति पुलिस अधीक्षक को भी भेजी गई है ताकि जिले में प्रवेश करने वाले ट्रैकर या पर्वतारोहियों पर निगरानी रखी जा सके. बावजूद इसके यदि कोई व्यक्ति जिले में ट्रैकिंग या पर्वतारोहण करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

आपको बता दें कि उपायुक्त ने पंचायती राज प्रतिनिधियों, महिला मंडलों और युवक मंडलों से भी आग्रह किया है कि यदि उनके क्षेत्र में इस तरह की गतिविधियों का पता चलता है तो तुरंत स्थानीय प्रशासन को सूचित किया जाए.

WATCH LIVE TV