लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीपद श्रीराम ने साइकिल से बनाया विश्व कीर्तिमान

लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीपद श्रीराम ने लेफ्टिनेंट कर्नल भरत पन्नू का रिकॉर्ड तोड़कर गिनीज बुक में नाम दर्ज करा लिया है. भरत पन्नू को अपना आदर्श बताते हुए उन्होंने कहा कि उनके मार्गदर्शन में ही वह सफलता पा सके.

लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीपद श्रीराम ने साइकिल से बनाया विश्व कीर्तिमान
लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीपद श्रीराम साइकिल से 472 किमी का सफर 34 घंटे 32 मिनट में पूरा कर आज दोपहर मनाली पहुंचे.

संदीप सिंह/मनाली : भारतीय सेना (Indian Army) से स्ट्राइक वन के लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीपद श्रीराम (Lt Col Shripad Shriram) ने साइकिल (Bycycle) चलाकर एक नया विश्व कीर्तिमान (World Record) बना लिया है.

उन्होंने अक्टूबर 2020 में लेफ्टिनेंट कर्नल भरत पन्नू (Lt Col Bharat Pannu) का रिकॉर्ड तोड़कर अपना नाम गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड्स (Guinness World Records) में अपना नाम दर्ज करा करा लिया है.

आज जब लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीपद श्रीराम मनाली (Manali) पहुंचे तो एसडीएम डॉ. सुरेंद्र ठाकुर और डीएसपी मनाली संजीव कुमार ने उनका स्वागत किया. दोनों अधिकारी श्रीपद श्रीराम के सफर का कुल समय नोटकर इस विश्व रिकॉर्ड के गवाह बने. 

लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीपद श्रीराम ने दुनिया की सबसे खतरनाक और ऊंचे पहाड़ों से गुजरने वाले लेह से मनाली तक के रास्ते को सबसे कम समय में तय किया. उन्होंने साइकिल से 472 किमी का यह सफर 34 घंटे 32 मिनट में पूरा कर अपना नाम गिनीज बुक ने दर्ज करा लिया. 

रोहतांग समेत पांच दर्रे पार किए

लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीपद श्रीराम लेह से 25 सितंबर को सुबह चार बजे चले थे और आज दोपहर लगभग सवा तीन बजे मनाली पहुंच गए. लेह से मनाली पहुंचने के दौरान उन्होंने अपनी साइकिल से रोहतांग समेत पांच दर्रे पार किए.

इससे पहले अक्टूबर 2020 में लेफ्टिनेंट कर्नल भरत पन्नू ने इस मार्ग पर साइकिल से नान स्टॉप सफर तय कर रिकॉर्ड बनाया था. भरत पन्नू ने यह दूरी 35 घंटे 32 मिनट में तय की थी.

WATCH LIVE TV

सड़क खराब होने से लगा ज्यादा समय 

जी मीडिया से खास बातचीत में लेफ्टिनेंट श्रीपद श्रीराम ने अपने अनुभव साझा किए. उन्होंने बताया कि दर्रों में रात के समय सफर करना चुनौतीभरा था. उन्होंने बताया कि बारालाचा दर्रे में तापमान माइनस पर था, लेकिन उन्होंने हिम्मत से काम करते हुए सफलता पाई.

उन्होंने कहा कि लेह-मनाली मार्ग (Leh-Manali Road) अधिकतर जगह चकाचक हो गया है, लेकिन सरचू ,भरतपुर सिटी, व रोहतांग मढ़ी के बीच सड़क खराब होने के कारण उन्हें ज्यादा समय लग गया.