केजरीवाल का आरोप: बेटे को बचाने के लिए मोदी सरकार से मिले हैं कैप्टन अमरिंदर,कृषि कानूनों की ड्राफ्टिंग में की थी मदद

 Zee पंजाब-हिमाचल-हरियाणा के एडिटर दिलीप तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री व AAP (Aam Aadmi Party) के संयोजक अरविंद केजरीवाल से बात की

केजरीवाल का आरोप: बेटे को बचाने के लिए मोदी सरकार से मिले हैं कैप्टन अमरिंदर,कृषि कानूनों की ड्राफ्टिंग में की थी मदद
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से Exclusive बातचीत
Play

कृषि कानूनों को लेकर किसान दिल्ली बॉर्डर पर 51 दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. इन कानूनों का सबसे ज्यादा विरोध पंजाब में देखने को मिल रहा है. पंजाब में कांग्रेस पार्टी की सरकार है और आम आदमी पार्टी एक मजबूत विपक्ष के रूप में उभरी है. दोनों ही पार्टियां कृषि कानूनों को काला कानून बता रही हैं और किसानों के समर्थन में खड़ी हैं. कृषि कानूनों, किसानों के मुद्दों और पंजाब की राजनीति में आम आदमी पार्टी की संभावना को लेकर Zee पंजाब-हिमाचल-हरियाणा के एडिटर दिलीप तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री व AAP (Aam Aadmi Party) के संयोजक अरविंद केजरीवाल से बात की.

इस इंटरव्यू के दौरान अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर ED के डर से केंद्र की मोदी सरकार से मिली भगत का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानूनों को दिल्ली में बैठे कैप्टन अमरिंदर सिंह के दोस्तों ने बनाया है. केजरीवाल ने कहा कि इन कानूनों की ड्राफ्टिंग कमेटी में अमरिंदर सिंह के नुमाइंदे के तौर पर मनप्रीत सिंह बादल शामिल हुए थे. उन्होंने केंद्र को इन कानूनों की ड्राफ्टिंग में मदद की.

केजरीवाल ने आगे कहा, ''ड्राफ्टिंग कमेटी में शामिल रहने वाले मनप्रीत बादल ने मुख्यमंत्री को बताया होगा कि तीनों कानून बन गए. मैं पूछना चाहता हूं कि उस कमेटी के अंदर उन्होंने विरोध क्यों नहीं किया कानूनों का ? बाहर निकल उन्होंने जनता को क्यों नहीं बताया कि ऐसे कानून बन रहे हैं, सारे जने खड़े हो जाओ. ये कानून पास नहीं होते. उस टाइम तो ये मिल गए केंद्र सरकार के साथ. जब कानून पास हो गए, जनता खड़ी हो गई, अब ये लोग विरोध करने का नाटक कर रहे हैं.''

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह पर मोदी सरकार से मिली भगत का आरोप लगाते हुए कहा, ''जब किसान दिल्ली आकर बैठ गए तो ये अमित शाह जी से मिलने किस लिए आए थे? मैं नहीं कह रहा, लोगों का कहना है कि उनके बेटे के खिलाफ ईडी (Enforcement Directorate) के कुछ केस चल रहे हैं. उन्होंने (अमित शाह) ने कहा होगा कि तुम किसानों को ठोका करो, हमें मत ठोका करो. ऐसा ही कहा होगा उन्होंने, हम तुम्हारे (कैप्टन अमरिंदर सिंह) के बेटे को संभाल लेंगे.''