खेदड़ थर्मल से ऑक्सीजन बनाने का विकल्प तलाश रहा जिला प्रशासन

हिसार के सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन उत्पादन के लिए प्लांट लगाया जा रहा है। लेकिन इसके साथ ही जिला प्रशासन खेदड़ स्थित थर्मल पांवर प्लांट से भी ऑक्सीजन बनाने की तैयारी कर रहा है

खेदड़ थर्मल से ऑक्सीजन बनाने का विकल्प तलाश रहा जिला प्रशासन
हिसार आक्सीजन प्लांट में पहुंची डीसी ​डॉ प्रियंका सोनी
रोहित कुमार/हिसार : कोविड 19 के इस संकट के बीच हिसार सहित तमाम एरिया में ऑक्सीजन की किल्लत बनी हुई है, हालांकि हिसार के सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन उत्पादन के लिए प्लांट लगाया जा रहा है। लेकिन इसके साथ ही जिला प्रशासन खेदड़ स्थित थर्मल पांवर प्लांट से भी ऑक्सीजन बनाने की तैयारी कर रहा है, जिहां आपने बिल्कुल ठीक सुना। हिसार की डीसी डॉ प्रियंका सोनी हिसार के सिविल अस्पताल में बन रहे ऑक्सीजन प्लांट का दौरा करने पहुंची थी।
 
इस बीच खास बातचीत में उन्होंने जिला में कोरोना के हालात और ऑक्सीजन की किस तरह की व्यवस्था है, तमाम पहलुओं पर बातचीत की। डीसी ने बताया कि सिविल अस्पताल के आक्सीजन प्लांट का ट्रायल लगभग पूरा हो चुका है और अब केवल क्वालिटी जांच का कार्य शेष है। क्वालिटी जांच के बाद प्लांट से ऑक्सीजन उत्पादन की अनुमति मिलते ही उत्पादन आरंभ हो जाएगा। इसके पश्चात प्लांट से प्रतिदिन 40 जम्बो साइज ऑक्सीजन सिलेण्डर भरे जा सकेंगें। ऐसी ही बात उन्होंने खेदड़ थर्मल् के लिए कहीं, उन्होंने कहा कि वहां भी आक्सीजन सैंपल के तौर पर जनरेट की हैं। मेडिकल पैमाने पर उसकी जांच होगी, अगर सब सहीं रहता हैं, तो 40 सिलेंडर डी टाईप वहां से भरे जा सकेंगे। डीसी डॉ प्रियंका सोनी ने जिला में अब तक के कोरोना के हालात बारे कहा कि रोजाना यहां 1 हजार के करीब नये केस आ रहे हैं, ऐसे में लोगों को सावधानी रखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हिसार में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए तमाम प्रयास किये जा रहे हैं, बैड्स इत्यादि भी बढ़ाये जा रहे हैं।
 
WATCH LIVE TV