Haryana: शिक्षा विभाग के कड़े दिशा-निर्देशों के साथ, आज से खुले 6 से 8वीं क्लास तक के स्कूल

कोरोना वायरस का खतरा कम होते ही हरियाणा में 9वीं से लेकर 12वीं तक के स्कूल पहले ही खोले जा चुकें हैं, लेकिन शुक्रवार यानी की आज से 6वीं से लेकर 8वीं क्लास तक के स्कूल खोले जाएगे. 

Haryana: शिक्षा विभाग के कड़े दिशा-निर्देशों के साथ, आज से खुले 6 से 8वीं क्लास तक के स्कूल

हरियाणा: कोरोना वायरस का खतरा कम होते ही हरियाणा में 9वीं से लेकर 12वीं तक के स्कूल पहले ही खोले जा चुकें हैं, लेकिन शुक्रवार यानी की आज से 6वीं से लेकर 8वीं क्लास तक के स्कूल खोले जाएगे. स्कूल आने वाले विद्यार्थियों को कोरोना नियमों का पूरी तरह से पालन करना होगा.

रोस्टर के हिसाब से 50 प्रतिशत विद्यार्थियों को स्कूल में प्रवेश की इजाजत मिलेगी. इसी के साथ अभिभावकों की सहमति बेहद ही जरूरी होगी. बता दें कि शिक्षा विभाग की तरफ से सभी बच्चों को साइकिल से आने के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही घर से पानी और लंच साथ लेकर आना होगा.

शिक्षा विभाग के दिशा-निर्देश 

स्कूल में कोरोना वायरस के चलते मिड डे मिल से खाना नहीं मिलेगा. साथ ही क्लास में डेस्क पर बच्चों के नाम अंकित किए जाएंगे. आने-जाने के लिए अलग-अलग दरवाजों का प्रयोग किया जाएगा. एक कक्षा में 30 से ज्यादा बच्चों को नहीं पढ़ाया जाएगा. बताते चले कि 16 जुलाई से 9वीं से 12वीं कक्षा के लिए स्कूल खोले गए थे.

प्रदेश में कोरोना केस कम होते ही अन्य कक्षाओं के लिए स्कूल खोले जा रहे हैं. फिलहाल, अभी पहली से पांचवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए स्कूल नहीं खोले गए हैं. खबरों की मानें तो स्कूल खुलने के बाद शिक्षा विभाग ने इंटरमीडिएट सेमेस्टर के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के ही पास करने का निर्णय लिया है.

ये भी पढ़े: Horoscope, 23 July 2021: इन राशि वाले लोगों का आज का दिन को सकता है खराब, रखें अपना और परिवार का खास ध्यान

इतना ही नहीं हरियामा के सभी पॉलीटेक्निक छात्रों को पत्र जारी कर दिया गया है. अंतिम सत्र के छात्रों के लिए ऑनलाइन मॉड का विकल्प देते हुए परीक्षा लेने का निर्णय लिया गया है. इस निर्णय के बाद इंजीनियरिंग डिप्लोमा कोर्स के टर्मिनल व अंतिम सत्र की परीक्षाएं, D फार्मेसी के प्रथम व द्वितीय सत्र की परीक्षाएं ऑफलाइन मॉड में ही होंगी.

आपको बता दें कि कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए CBSE, ICSE, HBSE बाकी स्कूल बोर्डों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों ने अपने पिछले परिणामों के आधार/इंटरनल असेसमेंट पर या फिर ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया है. उधर, कांग्रेस छात्र इकाई NSUI RTI सेल के राष्ट्रीय कन्वीनर दीपांशु बंसल ने 21 जुलाई को तकनीकी विभाग के निदेशक को मांग पत्र सौंपा था.

WATCH LIVE TV