बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने ग्रामीण क्षेत्र में मेडिकल किट वितरण को लेकर आईएमए व संबंधित अधिकारियों के साथ की बैठक

प्रदेश के बिजली, अक्षय ऊर्जा एवं जेल मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने तथा कोरोना लक्षण वालों को घर पर ही दवाईयों की नि:शुल्क किट का वितरण किया जाएगा

बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने ग्रामीण क्षेत्र में मेडिकल किट वितरण को लेकर आईएमए व संबंधित अधिकारियों के साथ की बैठक

 विजय कुमार/सिरसा : प्रदेश के बिजली, अक्षय ऊर्जा एवं जेल मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने तथा कोरोना लक्षण वालों को घर पर ही स्वास्थ्य लाभ देने के उद्ेश्य से दवाईयों की नि:शुल्क किट का वितरण किया जाएगा। प्रत्येक गांव में 50 किट दी जाएंगी। इस प्रकार से जिला में करीब 15 हजार मेडिकल किटों का वितरण करवाया जाएगा। इस मेडिकल किट में कोरोना इलाज संबंधी दवाईयां होंगी।
बिजली मंत्री सोमवार सायं सीडीएलयू के फैक्लटी हाऊस में मेडिकल किट वितरण व कोरोना इलाज संंबंधी प्रबंधों को लेकर इंडिय मेडिकल एसोसिएशन(आईएमए) व संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। बैठक में उपायुक्त प्रदीप कुमार, पूर्व चेयरमैन जगदीश चौपड़ा, बीजेपी जिला अध्यक्ष आदित्य देवीलाल, सीएमओ मनीष बंसल, समाजसेवी संजीव जैन, प्रो. जितेंद्र सिंह, नागरिक परिषद सचिव सुरेंद्र भाटिया सहित आईएमए व मेडिकल एसोसिएशन के पदाधिकारी उपस्थित थे।

बिजली मंत्री ने कहा कि गांवों में कोरोना संक्रमण का प्रसार बेहद ही चिंतनीय है। इसको लेकर प्रदेश सरकार पूरी तरह से गंभीर है और ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना के फैलाव को रोकने की दिशा में गांव स्तर पर कार्य योजना बनाई जा रही है। इसी कड़ी में ग्रामीण क्षेत्र के जिन लोगों में कोरोना के लक्षण है, उन्हें कोरोना दवाईयों की नि:शुल्क किट दी जाएगी। ऐसे मरीजों को घर ही स्वास्थ्य लाभ मिलने से जहां गांव में संक्रमण का प्रसार रूकेगा, वहीं शहर में अस्पतालों पर दबाव भी कम होगा। उन्होंने बताया कि जिला में 15 हजार किटों के वितरण का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें प्रत्येक गांव में 50 किटों का वितरण किया जाएगा।

उन्होंने मेडिकल किट की पैकिंग, इसमें डाली जाने वाली दवाईयों व उपकरणों आदि बारे आईएमए के प्रधान मदन बजाज से विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि किट में दवाइयों की लेने की मात्रा व समय की हिंदी में जानकारी वाली पर्ची भी डाली जाए, ताकि ग्रामीणों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। बिजली मंत्री ने कहा कि किट पैकिंग का कार्य तेजी के साथ करें, जिससे गांवों में किटों का वितरण जल्द हो सके। उन्होंने कहा कि धन के अभाव में जिला में कोविड संबंधी स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी नहीं रहने दी जाएगी। वे पहले ही 50 लाख रुपये की राशि स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए दे चुके हैं। आगे भी यदि कहीं पर भी उनके सहयोग की जरूरत पड़ती है, तो तुरंत अवगत करवाएं। उन्होंने कहा कि नागरिकों की स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि सिरसा का ऑक्सीजन कोटा बढाकर साढे सात एमटी कर दिया गया है। उन्होंने जिलावासियों विशेषकर ग्रामीण क्षेत्र के लोगों से आग्रह किया कि वे कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने में सहयोग करें और कोविड से बचाव के उपायों (मास्क, सोशल डिस्टेसिंग व साबुन या सेनेटाइजर से बार-बार हाथ साफ करना) की दृढता से पालना करें। नागरिक हाथों की सफाई पर विशेष ध्यान रखें, क्योंकि हाथों से ही संक्रमण के फैलाव की संभावना अधिक रहती है। उन्होंने बताया कि पांच-छ: अस्पतालों का दौरा किया और स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। साथ ही मरीजों के परिजनों से बातचीत की और डॉक्टरों से इलाज संबंधी जानकारी ली। 

WATCH LIVE TV