प्रशांत किशोर हो सकते हैं देश की सबसे पुरानी पार्टी में शामिल, राहुल ने नेताओं से पूछा-क्या किया जाए ?

प्रशांत किशोर ने कांग्रेस के पुनरुद्धार के लिए गांधी परिवार के सामने एक खाका पेश किया था. 22 जुलाई को राहुल गाँधी की अध्यक्षता में एक बैठक हुई. इसमें राहुल गांधी के अलावा एके एंटनी, मल्लिकार्जुन खड़गे, केसी वेणुगोपाल, कमलनाथ और अंबिका सोनी समेत लगभग आधा दर्जन से अधिक प्रमुख नेता शामिल हुए

प्रशांत किशोर हो सकते हैं देश की सबसे पुरानी पार्टी में शामिल, राहुल ने नेताओं से पूछा-क्या किया जाए ?
प्रशांत किशोर ने 13 जुलाई को दिल्ली में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात की थी.

नई दिल्ली: चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kumar) के देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस में शामिल होने को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है. हालांकि न तो अब तक कांग्रेस की तरफ से इस बारे में कुछ कहा गया है और न ही प्रशांत किशोर ने कोई आधिकारिक रूप से कोई बयान दिया है.

ऐसी चर्चा है कि राहुल गांधी ने प्रशांत किशोर को पार्टी में शामिल करने से पहले वरिष्ठ नेताओं से राय मांगी है. 

लोकसभा चुनाव की तैयारी 

प्रशांत किशोर (Prashant Kumar) ने 13 जुलाई को दिल्ली में कांग्रेस नेता सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) से मुलाकात की थी. इसके बाद कई तरह से कयास लगाए गए थे. यह बात सामने आई थी कि वह 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2024) के लिए बड़ी योजना तैयार कर रहे हैं.

22 जुलाई को हुई थी बैठक 

हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक प्रशांत किशोर ने कांग्रेस के पुनरुद्धार के लिए गांधी परिवार के सामने एक खाका पेश किया था. 22 जुलाई को राहुल गाँधी की अध्यक्षता में एक बैठक हुई. इसमें राहुल गांधी के अलावा एके एंटनी, मल्लिकार्जुन खड़गे, केसी वेणुगोपाल, कमलनाथ और अंबिका सोनी समेत लगभग आधा दर्जन से अधिक प्रमुख नेता शामिल हुए थे.

WATCH LIVE TV

बैठक यह जानने के लिए थी कि प्रशांत किशोर के सुझावों के बारे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता क्या सोचते हैं और कैसा महसूस करते हैं, जो उन्होंने पिछले साल कोरोना महामारी की शुरुआत से ठीक पहले पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को दिए गए थे. सूत्रों के मुताबिक बैठक में मौजूद ज्यादातर लोगों ने प्रशांत किशोर को पार्टी में शामिल किए जाने पर हामी भरी है.

दी जा सकती है बड़ी जिम्मेदारी

रिपोर्ट के अनुसार, राहुल गांधी अगले कुछ दिनों में इस पर अंतिम निर्णय ले सकते हैं. अगर दोनों पक्ष सहमत होते हैं तो प्रशांत किशोर (Prashant Kumar) को पार्टी में कोई बड़ा पद दिया जा सकता है.