सांसद रामस्वरूप की मौत मामले पर हिमाचल विधानसभा में हंगामा, सीएम की इस बात पर बिफरा विपक्ष

दिल्ली में भाजपा सांसद रामस्वरूप शर्मा की संदिग्ध हालात में मौत पर आज हिमाचल प्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान जमकर हंगामा हुआ. विपक्ष ने सदन में मामले की सीबीआई जांच की मांग उठाई. इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली क्राइम ब्रांच तथ्यों के आधार पर जांच कर रही है.

सांसद रामस्वरूप की मौत मामले पर हिमाचल विधानसभा में हंगामा, सीएम की इस बात पर बिफरा विपक्ष

शिमला : दिल्ली में भाजपा सांसद रामस्वरूप शर्मा की संदिग्ध हालात में मौत पर आज हिमाचल प्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान जमकर हंगामा हुआ. विपक्ष ने सदन में मामले की सीबीआई जांच की मांग उठाई. इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली क्राइम ब्रांच तथ्यों के आधार पर जांच कर रही है. इसके बाद कांग्रेसी विधायकों ने नारेबाजी शुरू कर दी. 

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री का कहना था कि एक सांसद की मौत हुई है, जिसका संबंध हिमाचल प्रदेश से भी है. ऐसे में जांच रिपोर्ट आनी चाहिए थी, लेकिन सरकार इस संवेदनशील मामले को छुपा रही है. विपक्ष ने नियम 67 के तहत चर्चा का मौका न मिलने पर सदन से वॉकआउट कर दिया. 

कांग्रेस विधायकों की ओर से किए जा रहे विरोध को देखते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि यह घटना दिल्ली में हुई थी. रामस्वरूप शर्मा और मैंने संगठन में बहुत लंबे समय तक काम किया है. मैं स्वयं उनकी मौत से स्तब्ध रह गया था. इस घटना के बाद मैंने रामस्वरूप शर्मा के परिवार से मुलाकात की थी और मैंने पूछा था कि वह इस मामले में क्‍या चाहते हैं लेकिन उनके परिवार ने किसी भी प्रकार की जांच से इनकार किया था.

मामला हमारे विशेषाधिकार का नहीं
मुख्यमंत्री का कहना है कि यह मामला दिल्ली में घटित हुआ था और यह प्रदेश सरकार के विशेषाधिकार का नहीं है. रामस्वरूप शर्मा के पुत्र ने हाल ही में जांच का मामला उठाया है, जो हमारे भी संज्ञान में है. उनके बेटे ने कहा, मेरे पिता आत्महत्या नहीं कर सकते. इस विषय को लेकर के हमने पार्टी नेतृत्व को अवगत करवाया है. उन्होंने कहा दिल्ली की क्राइम ब्रांच इस मामले की जांच कर रही है और हमें किसी प्रकार से जांच को प्रभावित नहीं करना चाहिए.

विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन प्रश्नकाल आज शोर-शराबे के बीच शुरू हुआ. कांग्रेस विधायकों का कहना था कि सरकार संसद की मौत की सीबीआई जांच क्यों नहीं करवा रही.प्रश्नकाल शुरू होने से पहले कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी ने प्वाइंट आफ ऑर्डर मांगा इसके बाद कुल्लू से कांग्रेस विधायक सुंदर सिंह ठाकुर कागज लहराते नजर आए. 

WATCH LIVE TV

विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने कांग्रेसी विधायकों के शोर-शराबे को देखते हुए कहा कि रामस्वरूप शर्मा की मौत के मामले में बजट सत्र के दौरान चर्चा हो चुकी है. इस मामले की जांच अभी चल रही है, ऐसे में जांच को किसी भी रूप से प्रभावित नहीं किया जा सकता और न ही इस मामले में चर्चा हो सकती है.

कांग्रेसी विधायकों को पहले मेरे चेंबर में आकर के चर्चा करनी चाहिए थी, लेकिन कांग्रेस विधायक इस बात से संतुष्ट नहीं हुए। सदन में शोर-शराबा शुरू हो गया नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री सीट से खड़े हो गए. संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि इस तरह से सदन में कागज नहीं लहराए जा सकते. 

विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने कहा कि मुख्यमंत्री की ओर से विस्तृत जवाब आ गया है. ऐसे में कोई औचित्य नहीं रह जाता है.