close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पंजाब के पुत्तर ने किया कमाल, कनाडा में हरजीत सिंह सज्जन फिर से बने सांसद

हरजीत पंजाब के होशियारपुर जिले के बबेली गांव के रहने वाले हैं. हरजीत की जीत पर गांव के सभी लोग बहुत खुश हैं. गांववालों ने हरजीत के सांसद बनने की खुशी का जश्न ढोल बजाकर, भांगड़ा करके और लड्डू बांट कर मनाया.

पंजाब के पुत्तर ने किया कमाल, कनाडा में हरजीत सिंह सज्जन फिर से बने सांसद
हरजीत सिंह सज्जन को कनाडा के साउथ वैंकूवर से सांसद चुने गए
होशियारपुर: कनाडा  (Canada) में हुए आम चुनाव में पंजाब (Punjab) के होशियारपुर के मूल निवासी हरजीत सिंह सज्जन (Harjit Singh Sajjan)  को एक बार फिर से कनाडा के साउथ वैंकूवर (South Vancouver) से सांसद चुन लिए गया. हरजीत लिबरल पार्टी (Liberal Party) के टिकट पर चुनाव लड़ रहे थे. ये पार्टी प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ( PM Justin Trudeau) की है. हरजीत सिंह सज्जन इससे पहले भी भारत का मान बढ़ा चुके हैं. उन्हें ट्रूडो की पिछली सरकार में पहला सिक्ख रक्षामंत्री (Defence Minister) चुना गया था.
 
हरजीत पंजाब के होशियारपुर जिले के बबेली गांव के रहने वाले हैं. हरजीत की जीत पर गांव के सभी लोग बहुत खुश हैं. गांववालों ने हरजीत के सांसद बनने की खुशी का जश्न ढोल बजाकर भांगड़ा करके और लड्डू बांट कर मनाया.
 
लाइव टीवी देखें

 
हरजीत सिंह का परिवार साल 1976 में भारत (India) से कनाडा के 'ब्रिटिश कोलंबिया' (British Columbia) में जाकर बस गया था. उस वक्त हरजीत केवल 5 साल के थे. हरजीत ने साल 1989 में 'द ब्रिटिश कोलंबिया रेजिमेंट' (The British Columbia Regiment) ज्वाइन की. बाद में वो सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल के पद तक भी पहुंच गए थे. कनाडा में वो पहले सिक्ख थे जिन्हें सेना की किसी रेजीमेंट की कमान सौंपी गई थी.
 
हरजीत ने 2014 में अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत लिबरल पार्टी के टिकट पर साउथ वैंकूवर से चुनाव लड़कर की. वो पहली बार में ही सांसद चुने गए और कनाडा के पहले सिक्ख रक्षामंत्री भी बनें.
 

हरजीत के अलावा कनाडा आम चुनाव (Canada Parliamentary Election) में भारतीय मूल के लोग किंगमेकर की भूमिका में हैं. कनाडा में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है, 338 सीटों के 'हाउस ऑफ कामन्स' (House of Commons) में बहुमत के लिए 170 सीटों की जरूरत है. चुनावों परिणाम में सबसे बड़ी पार्टी जस्टिन ट्रूडो की है. ट्रूडो की लिबरल पार्टी को 157 सीटें मिली हैं. उन्हें बहुमत के लिए 13 सीटों की जरूरत है. भारतीय मूल के ही जगमीत सिंह (Jagmit Singh) की 'न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी' (New Democratic Party) को 24 सीटें मिली हैं.