CBSE बोर्ड का बड़ा फैसला, Corona काल में अनाथ हुए बच्चों से नहीं ली जाएगी Fees

CBSE बोर्ड ने हाल ही में छात्रों को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है. CBSE बोर्ड ने कोरोना वायरस के चलते, जिन बच्चों के माता-पिता की मृत्यु हो गई है

CBSE बोर्ड का बड़ा फैसला, Corona काल में अनाथ हुए बच्चों से नहीं ली जाएगी Fees

नई दिल्लीः CBSE बोर्ड ने हाल ही में छात्रों को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है. CBSE बोर्ड ने कोरोना वायरस के चलते, जिन बच्चों के माता-पिता की मृत्यु हो गई है. बोर्ड परीक्षा केंद्र उन बच्चों से फीस नहीं लेगा. CBSE परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने मंगलवार को कहा कि अगले साल की बोर्ड परीक्षाओं के लिए इन बच्चों से कोई पंजीकरण या परीक्षा शुल्क नहीं लिया जाएगा. ऐसे बच्चों की पहचान स्कूल करेंगे और परीक्षा के लिए आवेदन में इसकी जानकारी देंगे.

CBSE के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने देश पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है जिसकी वजह से छात्र भी प्रभावित हुए है. इसी को ध्यान में रखते हुए CBSE ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए राहत देने का फैसला किया है. बोर्ड द्वारा उन छात्रों से न तो परीक्षा शुल्क और न ही पंजीकरण शुल्क लिया जाएगा.

उन्होंने आगे कहा कि माता-पिता दोनों या परिवार की देखभाल करने वाले अभिभावक, कानूनी अभिभावक या दत्तक माता-पिता को कोरोना वायरस के कारण खो दिया है. इसका लाभ जरूरतमंद बच्चों को मिले इसलिए स्कूल कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षा के लिए छात्रों की सूची प्रस्तुत करते समय इन छात्रों के बारे में सत्यापन करने के बाद ब्योरा जमा करेंगे. वहीं, ऐसा नहीं करने वाले स्कूलों पर कार्रवाई भी जा सकती है.

WATCH LIVE TV