निज़ामुद्दीन मरकज़ में शिरकत करने वाले वाले 51 लोग UP के वृंदावन से गिरफ्तार

दिल्ली के निजामुद्दीन तबलीगी जमात में शामिल होने वाले 51 लोग पकड़े गए हैं. सभी लोगों को वृन्दावन में मौजूद अग्रसेन आश्रम में क्वॉरेंटाइन किया गया है.

निज़ामुद्दीन मरकज़ में शिरकत करने वाले वाले 51 लोग UP के वृंदावन से गिरफ्तार

वृंदावन: दिल्ली के निजामुद्दीन तबलीगी जमात में शामिल होने वाले 51 लोग पकड़े गए हैं. सभी लोगों को वृन्दावन में मौजूद अग्रसेन आश्रम में क्वॉरेंटाइन किया गया है. पकड़े गए लोगों में आगरा के 14, शामली के 7 और मथुरा का 1 शख्स शामिल है. ये सभी लोग ज़िले की मुख्तलिफ मस्जिदों में छुपे हुए थे. ओल की मस्जिद 30, सुखदेव नगर से 14 लोग हिरासत में लिए गए हैं. यह कार्रवाई मथुरा पुलिस और एलआईयू टीम ने की की है. 

इस मरकज़ में यूपी के 19 जिलों बहराइच, गोंडा, बलरामपुर, गाजियाबाद, प्रयागराज, भदोही, लखनऊ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बाराबंकी, मेरठ, बिजनौर, आगरा, वाराणसी, हापुड़, मथुरा, शामली और सीतापुर के 157 लोग निजामुद्दीन मरकज में ठरहे थे. इस फहरिस्त में मुजफ्फरनगर के सबसे ज्यादा 28 लोग शामिल हैं, जबकि लखनऊ के 20 लोगों ने भी इस मरकज़ में शिरकत की थी. इनमें से 51 लोग पकड़े गए हैं. 

बता दें कि निजामुद्दीन के इस मरकज़ में कई ममालिक के लोग आते रहते हैं. मरकज़ से कुछ ही दूर सूफी संत हज़रत निजामुद्दीन औलिया की दरगाह है. तबलीगी जमात के मरकज़ में 1 से 15 मार्च तक 5 हजार से ज्यादा लोग आए थे. इनमें इंडोनेशिया, मलेशिया और थाईलैंड के लोग भी शामिल थे.

मरकज़ से 334 लोगों को अस्पताल और 700 के करीब लोगों को क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया है. जिनमें से 24 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनकी रिपोर्ट आने के बाद हड़कंप मच गया जिसके बाद दिल्ली हुकूमत ने इन लोगों पर FIR दर्ज करने का हुक्म दिया है.

हालांकि मरकज़ की जानिब से कहा गया है कि पहले ही दिन से उन्होंने तमाम तरह की जानकारी इंतेजामिया को दी थीं. मरकज़ के तर्जुमान अशरफ ने बयान दिया है कि वो लगातार एसडीएम (SDM) पुलिस और डब्ल्यूएचओ (WHO) के राब्ते में थे और उन्होंने कई बार गुज़ारिश की कि लोगों को निकाला जाए लेकिन वक्त पर क़दम नहीं उठाए गए और अब उनको इसके लिए जिम्मेदार ठहराना गलत है.

इसके अलावा आम आदमी पार्टी के ओखला से विधायक (MLA) अमानतुल्ला खां ने भी ट्वीट कर कहा है कि 23 मार्च को रात 12 बजे मैंने DCP South East और ACP Nizamuddin को बता दिया था कि निज़ामुद्दीन मरकज़ में 1000 के आस पास लोग फसे हुए हैं, फिर पुलिस ने इनको भेजने का इंतज़ाम क्यों नही किया.

Zee Salaam Live TV