Assam Election: AIUDF का दावा- BJP के 5-6 उम्मीदवार हमारे संपर्क में

क्या वे बराक या ब्रह्मपुत्र घाटी के भाजपा उम्मीदवार हैं, इस सवाल पर एआईयूडीएफ नेता ने कहा, "वे समूचे असम से हैं." 

Assam Election: AIUDF का दावा- BJP के 5-6 उम्मीदवार हमारे संपर्क में
AIUDF के चीफ बदरुद्दीन अजमल की फाइल फोटो

गुवाहाटी/सिलचर: असम में कांग्रेस नीत महागठबंधन के साथ चुनाव लड़ रही ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) ने मंगलवार को दावा किया कि हाल में खत्म हुए असम विधानसभा चुनाव में भाजपा के पांच-छह उम्मीदवारों ने पार्टी से संपर्क कर कांग्रेस नीत महागठबंधन की हिमायत करने का वादा किया है. हालांकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इन दावों को खारिज किया है. 

भगवा पार्टी द्वारा खरीद-फरोख्त की आशंका के कारण पिछले सप्ताह जयपुर भेजे गए करीब 20 एआईयूडीएफ उम्मीदवारों में से एक करीम उद्दीन बरभुइया ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से कहा,"भाजपा के पांच-छह उम्मीदवारों ने मुझसे संपर्क कर महागठबंधन का समर्थन करने की बात कही है." भाजपा के किन उम्मीदवारों ने संपर्क किया है, यह पूछे जाने पर एआईयूडीएफ के महासचिव बरभुइया ने कहा,"अभी नामों का खुलासा नहीं किया जा सकता. आपको दो मई (मतगणना) के बाद पता चल जाएगा."

यह भी पढ़ें: EC ने बंगाल BJP अध्यक्ष Dilip Ghosh के चुनाव प्रचार पर लगाई रोक, दिया था ये बड़ा बयान

क्या वे बराक या ब्रह्मपुत्र घाटी के भाजपा उम्मीदवार हैं, इस सवाल पर एआईयूडीएफ नेता ने कहा, "वे समूचे असम से हैं." जीत के बाद भाजपा उम्मीदवारों के महागठबंधन का समर्थन करने की स्थिति में उन पर दल-बदल कानून लागू हो जाएगा. यह उल्लेख करने पर एआईयूडीएफ नेता ने कहा, "वे फिर से चुनाव लड़ेंगे."

खरीद-फरोख्त की आशंका के चलते एआईयूडीएफ के 20 उम्मीदवारों को कुछ दिन पहले राजस्थान भेजने संबंधी खबरों से बरभुइया ने इनकार किया और दावा किया कि सघन चुनाव अभियान के बाद वे सैर-सपाटे के लिए और अजमेर शरीफ दरगाह गए थे. बरभुइया ने कहा कि वह सोमवार को असम लौट आए तथा बाकी नेता भी बुधवार को वापस आएंगे.

यह भी पढ़ें: CM योगी आदित्यनाथ ने दी रमज़ान की शुभकामनाएं, मुसलमानों से की यह अपील

बहरहाल, इस बारे में भाजपा प्रवक्ता रूपम गोस्वामी ने एआईयूडीएफ के दावों का खंडन करते हुए कहा,"हमारा कोई भी उम्मीदवार विपक्षी दल के संपर्क में नहीं है. हमारी पार्टी अनुशासित है और इसके सदस्य पार्टी नेतृत्व को बताए बिना किसी दूसरे राजनीतिक दल से संपर्क नहीं करते."

गोस्वामी ने कहा, "एआईयूडीएफ से संपर्क करने का सवाल ही नहीं उठता क्योंकि भाजपा असम में चुनाव जीतेगी और सरकार बनाएगी." गोस्वामी ने तंस कसते हुए कहा,"देश के इतिहास में यह पहला मौका है जब कोई राजनीतिक दल चुनाव परिणाम की घोषणा के पहले ही उम्मीदवारों द्वारा संपर्क किए जाने का दावा कर रहा है."

यह भी पढ़ें: CIL Jobs: कॉल इंडिया लिमिटेड ने मांगे हैं आवेदन, 2 लाख तक होगी सैलरी, ऐसे करें अप्लाई

बता दें कि असम की 126 सदस्यीय विधानसभा का चुनाव 27 मार्च से छह अप्रैल के बीच तीन चरणों में हुआ और दो मई को मतगणना होगी.

(इनपुट: भाषा)

ZEE SALAAM LIVE TV