मिजोरम-असम सीमा पर तनावः गाड़ियों में तोड़फोड़, कई घर आग के हवाले, दो गुटों में जमकर पत्थरबाजी

मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथंगा ने हादसे का वीडियो शेयर करते हुए  इस मामले में गृहमंत्री अमित शाह से मदद की गुहार लगाई है.

मिजोरम-असम सीमा पर तनावः गाड़ियों में तोड़फोड़, कई घर आग के हवाले, दो गुटों में जमकर पत्थरबाजी
मिजोरम-असम की सीमा पर आपस में उलझते हुए दो गुट

आइजोलः मिजोरम-असम की सीमा पर तनाव पैदा हो गया है. यहां कुछ नामालूम अफराद के जरिए किसानों के घरों में आग लगाने, फायरिंग करने, सरकारी गाड़ियों को तोड़ने और पत्थरबाजी करने का मामला सामने आया है. यह घटना केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सदारत में शिलांग में पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक के एक दिन बाद हुई है. इस बैठक में सीमा मुद्दे पर चर्चा हुई थी. मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथंगा ने हादसे का वीडियो शेयर करते हुए गृहमंत्री अमित शाह से मदद की गुहार लगाई है. असम और मिजोरम, दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने मामले को लेकर ट्विटर पर बात की है. ट्वीट में गृह मंत्री अमित शाह को भी टैग किया गया. असम-मिजोरम बॉर्डर पर हिंसा की ये खबर ऐसे वक्त में सामने आई है जब 2 दिन पहले ही गृह मंत्री अमित शाह ने शिलांग में पूर्वोत्तर राज्यों के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी.

पुलिस ने की हादसे की तस्दीक 
मिजोरम के पुलिस महानिरीक्षक (उत्तरी रेंज) लालबियाकथांगा खियांगते ने कहा है कि विवादित क्षेत्र में ऐटलांग नदी के पास कम से कम आठ झोपड़ियों में इतवार की रात साढ़े 11 बजे आग लगा दी गई. हादसे के वक्त इन झोपड़ियों में कोई नहीं था. ये झोपड़ी असम के नजदीकी सीमावर्ती गांव वायरेंगटे के किसानों की है. खियांगते ने कहा कि झोपड़ी मालिकों की शिकायत पर वायरेंगटे थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है.

दोनों मुख्यमंत्रियों से शांति और सयंम बनाने की अपील 
असम के सीएम हिमंत बिस्व सरमा ने इस मामले कहा है कि मैंने अभी-अभी मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा जी से बात की है. मैंने कहा है कि असम हमारे राज्य की सीमाओं के बीच यथास्थिति और शांति बनाए रखेगा. मैंने जरूरत पड़ने पर आइजोल जाने और इन मुद्दों पर चर्चा करने की इच्छा जताई है. वहीं सूत्रों की मानें तो केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने असम और मिजोरम के मुख्यमंत्रियों से बात की है और उनसे सीमा मुद्दे को हल करने को कहा है. बताया ये भी जा रहा है कि दोनों मुख्यमंत्रियों ने इस मुद्दे को सुलझाने और शांति बनाए रखने पर सहमति जताई है. दोनों राज्यों की पुलिस बल विवादित क्षेत्र से लौट रही है.

दोनों राज्य एक-दूसरे पर लगा रहे हैं इलाके पर कब्जे का इल्जाम 
जून से मिजोरम-असम की सीमा पर तनाव जारी है, जब असम पुलिस ने वायरेंगटे से करीब पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित ‘ऐटलांग हनार’ इलाके पर मुबैयना तौर पर कब्जा कर लिया और पड़ोसी राज्य पर इसकी सीमा का अतिक्रमण करने का इल्जाम लगाया. दरअसल, मिजोरम के तीन जिले आईजोल, कोलासिब और मामित असम के कछार और हैलाकांडी जिलों की अंतर-राज्यीय सीमा एक-दूसरे से लगती है. यह क्षेत्र विवादित माना जाता है. पिछले कुछ दिनों से तनाव बढ़ता नजर आ रहा है. 

 

Zee Salaam Live Tv