मां-बाप की इन हरकतों की वजह से सलाखों के पीछे पहुंच गया महज़ 11 महीने का बच्चा

सवा दो लाख लोगों से अरबों की ठगी करने वाले बाइक बोट कंपनी घोटाले में रविंद्र और रेखा रानी भी मुल्ज़िम हैं. बुनियादी तौर पर पंजाब के रहने वाले इस जोड़े को पुलिस पिछले एक साल से तलाश रही थी.

मां-बाप की इन हरकतों की वजह से सलाखों के पीछे पहुंच गया महज़ 11 महीने का बच्चा
प्रतीकात्मक तस्वीर

नोएडा: कहा गया है कि माता-पिता के कर्म बुरे हों, तो औलाद को उसका फल भुगतना पड़ता है. इस कहावत का जीता-जागता सबूत बन गया है एक 11 महीने का बच्चा. उसकी उम्र तो अभी दुनिया में नई-नई चीजें देखने और समझने की है लेकिन वो फिलहाल जेल की सलाखों के पीछे है. नोएडा के बहुचर्चित बाइक बोट घोटाले में इस बच्चे के मां-बाप मुल्ज़िम हैं. सनीचर को मुल्ज़िम जोड़े को पुलिस ने जब गिरफ्तार किया तो बच्चे को भी अपने मां-बाप के साथ जेल जाना पड़ा.

यह भी पढ़ें: हज 2021: 45 सीटर बस में बैठेंगे सिर्फ 15 लोग, गर्भवती महिलाओं समेत इन लोगों पर रहेगी पाबंदी

50-50 हजार के हैं इनामी 
मुल्क में सवा दो लाख लोगों से अरबों की ठगी करने वाले बाइक बोट कंपनी घोटाले में रविंद्र और रेखा रानी भी मुल्ज़िम हैं. बुनियादी तौर पर पंजाब के रहने वाले इस जोड़े को पुलिस पिछले एक साल से तलाश रही थी. इन पर 50-50 हजार का इनाम भी था. एसटीएफ ने सनीचर के रोज़ इन्हें लुधियाना से धर दबोचा.

यह भी पढ़ें: Kangana Ranaut ने शाहीन बाग की दादी को लेकर कही थी ये बात, मिला प्यारा जवाब

बच्चे को देखकर पसीजा दिल
जब जोड़े को पुलिस ने गिरफ्तार किया तो रेखा की गोद में छोटा सा बच्चा था. उस 11 महीने के मासूम बच्चे को देखकर पुलिस वालों की आंखें भी नम हो गईं. दादरी कोतवाली पुलिस ने दोनों मुल्ज़िमों को अदालत में पेश किया. वहां से दोनों को जेल भेज दिया गया है. बच्चा छोटा होने की वजह से मां-बाप के साथ वो भी जेल भेज दिया गया.

यह भी पढ़ें: Sana Khan ने मां बनने के सवाल पर कही बड़ी बात, ट्रोलर्स को भी दिया करारा जवाब

जोड़े को मिली थी लग्जरी कार
पुलिस जांच में पता चला है कि घोटाले के अहम मुल्ज़िम संजय भाटी ने जोड़े को गिफ्ट में लग्जरी कार दी थी. जिसे जब्त किया जा चुका है. इन लोगों ने कई अन्य लोगों से भी कंपनी में इनवेस्ट कराया था और उनके इंवेस्टमेंट की रकम खुद डकार गए थे.

यह भी देखें: हिरण को दबोच कर चीता कर रहा था मां का इंतजार फिर हुआ कुछ ऐसा, देखिए VIDEO

क्या है बाइक बोट घोटाला?
ग्रेटर नोएडा के दनकौर कोतवाली इलाके के चीती गांव के रहने वाले संजय भाटी ने गर्वित इनोवेटिव के नाम से कंपनी खोली जिसको बाइक बोट के नाम से प्रमोट किया गया. कंपनी ने बाइक लगवाने के नाम पर इनवेस्टर्स से 62100 रुपये लिए गए और एक साल में दो गुना कर वापस करने का झांसा दिया गया. कुछ लोगों को ये रकम पहली दी भी गई. इसके बाद जब लोगों ने जब कई बाइक्स की रकम इंवेस्ट की तो कंपनी ने उनके पैसे डुबा दिए.

Zee Salaam LIVE TV