ओवैसी भाईयों को इस लीडर ने दिया जवाब, आपके बुज़ुर्गों ने पाकिस्तान बनवाया था

ओवैसी बंधुओं के बुज़ुर्गों ने तो पाकिस्तान बनवाया है, पाकिस्तान न जा पाने की दुख उनके बयानों में साफ झलकता है. इसीलिए ओवैसी बंधु मुल्क में घुसपैठियों जैसा बर्ताव कर रहे हैं.'

ओवैसी भाईयों को इस लीडर ने दिया जवाब, आपके बुज़ुर्गों ने पाकिस्तान बनवाया था

लखनऊ: अकबरुद्दीन ओवैसी के मुतनाज़ा बयान पर उत्तर प्रदेश की योगी हुकूमत में वज़ीर और भाजपा लीडर मोहसिन रज़ा ने पलटवार किया है. मो​हसिन रज़ा ने ट्वीट किया, 'ओवैसी भाईयों के बुज़ुर्गों ने तो पाकिस्तान बनवाया है, पाकिस्तान न जा पाने की दुख उनके बयानों में साफ झलकता है. इसीलिए ओवैसी बंधु मुल्क में घुसपैठियों जैसा बर्ताव कर रहे हैं.'

इससे पहले मरकज़ी वज़ीर गिरिराज सिंह ने भी अकबरुद्दीन ओवैसी के मुतनाज़ा बयान पर तबसिरा करते हुए उन्हें जिन्ना की राह पर नहीं चलने के लिए कहा. अकबरुद्दीन ओवैसी के बयान पर गिरिराज सिंह ने कहा, 'भारत को धमकाने की कोशिश न करें और जिन्ना को फोलो भी न करें. मुस्लिम हुकमरानों ने भारत पर 800 सालों से ज्यादा वक्त तक हुकमरानी की है. वो लुटेरे थे. भारत को धमकाने की ज़रूरत नहीं, मुल्क के लोग अब जाग चुके हैं.' 

अकबरुद्दीन ओवैसी ने 22 जनवरी को एक रैली को खिताब करते हुए कहा, ‘हमको डरने या घबराने की जरूरत नहीं है. हमको परेशान होने की ज़रूरत नहीं है. हमको इनकी बातों में आने की जरूरत नहीं है. जो हमसे पूछ रहे हैं कि मुसलमान के पास क्या है? मैं कहना चाहता हूं कि तू मेरे कागज़ देखना चाहता है? मैंने इस मुल्क पर 800 बरस तक हुक्मरानी और जांबाजी की है.'

अकबरुद्दीन ओवैसी ने मज़ीद कहा,'ये मुल्क मेरा था, मेरा है और मेरा रहेगा. मेरे आबा-औ-अजदाद ने इस मुल्क को चारमीनार दिया, मक्का मस्जिद दिया, कुतुब मीनार दिया, जामा मस्जिद दिया. अरे हिंदुस्तान का पीएम जिस लाल किले पर झंडा फहराता है, वो भी मेरे आबा-ओ-अजदाद ने दिया है. अगर कोई काग़ज़ मांग रहा है तो वो देख ले चार मिनार खड़ा है. वो सबसे बड़ा सबूत है जो मेरे बाप-दादा ने बनाया है तेरे बाप ने नहीं.'

हैदराबाद से एमपी असदुद्दीन ओवैसी ने अपने छोटे भाई अकबरुद्दीन ओवैसी के इस बयान को गलत बताने की बजाए मोदी हुकूमत पर तंज़ कसा. उन्होंने कहा, 'मैं कह रहा हूं कि मेरे भाई ने ग़लत बयान दिया. उसे कहना चाहिए था कि ये सब 2014 के बाद बना. ये सब मोदी जी की हुकूमत बनने के बाद बना.'