निर्भया केस : मुजरिमीन के फांसी का काउंट डाउन शुरू, आज डमी को फांसी देगा पवन जल्लाद

आज और कल होगा मुज़रिमीन के डमी को फांसी देने का ट्रायल, पवन जल्लाद ने तिहाड़ जेल में रिपोर्ट किया

निर्भया केस : मुजरिमीन के फांसी का काउंट डाउन शुरू, आज डमी को फांसी देगा पवन जल्लाद

नई दिल्ली : आखिरकार वो समय आने वाला है जिसका सबको काफी लंबे समय से इंतेज़ार था. निर्भया के मुजरिमीन को फांसी देने के लिए पवन जल्लाद ने मंगलवाल की शाम तिहाड़ जेल में रिपोर्ट किया. बता दें फांसी देने के पहले 18 मार्च और 19 मार्च के दिन डमी को फांसी दी जाएगी. बता दें इससे पहले भी तीन बार निर्भया के मुजरिमीन की फांसी टल चुकी है.

निर्भया के मुजरिमी की फांसी का काउंट डाउन शुरू हो गया है. तिहाड़ जेल इंतेजामिया ने उन्हें फांसी के तख्ते पर लटकाने का प्रोसेस एक बार फिर से तेज कर दी है। बता दें सोमवार को लोक निर्माण विभाग (Public Works Department) के ऑफिसर फांसीघर का मुआयना करने पहुंचे थे। उनके साथ जेल के अधिकारी भी थे। इस दौरान फांसीघर की सफाई के साथ प्लेटफार्म का भी जांच की गई। आला अधिकारी करीब एक घंटे तक फांसीघर का मुआयना करते रहे।

जेल इंतेजामिया के मुताबिक फांसी की तैयारी जेल मैनुअल के तहत की जाती है। इसके तहत ही Public Works Department के अधिकारी जेल नंबर तीन में मौजूद फांसीघर का मुआयना करने पहुंचे थे। इस दौरान फांसीघर की सफाई भी कराई गई। पवन जल्लाद मंगलवार की दोपहर तिहाड़ जेल पहुंचा.उसके बाद जेल परिसर में बने गेस्ट हाउस के एक कमरे में ठहराया गया.

बताया गया कि शाम को जब सभी कैदी करीब छह बजे अपने-अपने बैरक और सेल में चले गए थे तो उसके बाद जेल अधीक्षक ने जल्लाद पवन को बुलाया। जेल के डीजी संदीप गोयल, एडीजी राजकुमार सहित जेल अधीक्षक, डाक्टरों की टीम सहित अन्य अधिकारी जेल नंबर तीन में पहुंचे। जल्लाद ने फांसी घर के तख्त, फांसी देने वाले लीवर, रस्सी समेत दूसरे उपकरणों की जांच की। बताया गया कि सभी उपकरण फांसी देने के उपयुक्त हैं। इस बार जल्लाद को तीन दिन पहले तिहाड़ जेल बुला लिया गया है। वह दो दिन तक फांसी का ट्रायल करेगा ताकि फांसी के दिन किसी भी तरह की परेशानी ना हो

जेल ऑफिसर्स ने बक्सर से मंगाई गई फंदे की रस्सी की भी जांच की। रस्सियों को एक बॉक्स में रखा गया है। इससे पहले ट्रायल के दौरान इन रस्सियों को मुलायम रखने के लिए मक्खन और केले का लेप चढ़ाया जा चुका है। जेल अधिकारियों के मुताबिक, रस्सी पूरी तरह से ठीक है। तिहाड़ जेल आने के बाद जल्लाद इन रस्सियों को और मुलायम करेगा। फिर इन्हीं से डमी के ट्रायल के बाद दोषियों को फांसी दी जाएगी।

निर्भया के मुजरिमीन को इस बार फांसी देने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। बताया गया कि अगर इस बार चारों को फांसी होती है तो उनके लाशों का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। इससे पहले अफजल गुरू को फांसी देने के बाद यह आवाज उठी थी कि उसके शव को जेल में दफनाने से पहले पोस्टमार्टम कराया जाना चाहिए था। इसलिए अब जेल नियम के मुताबिक फांसी के बाद चारों के शवों का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।