CM केजरीवाल की मोदी हुकूमत से गुज़ारिश, वैक्सीन बनाने का फॉर्मूला दूसरी कंपनियों को भी शेयर करें

इस वक्त भारत में कोविशील्ड और कोवैक्सीन दी जा रही है. भारत बॉयोटेक कोवैस्कीन बना रहा है. जबकि ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राज़ेनेका की कोविशील्ड वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट बना रहा है.   

CM केजरीवाल  की मोदी हुकूमत से गुज़ारिश, वैक्सीन बनाने का फॉर्मूला दूसरी कंपनियों को भी शेयर करें
फाइल फोटो

नई दिल्ली: कौमी दारुलहुकूमत दिल्ली के वज़ीरे आला अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) मरकज़ी हुकूमत से गुज़ारिश की है कि  वैक्सीन की कमी दूर करने के लिए इसका फ़ॉर्मूला दूसरी कंपनियों के साथ शेयर करें.

वज़ीरे आला अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि सिर्फ़ दो कंपनियों से पूरे मुल्क को वैक्सीन की सप्लाई करना मुम्किन नहीं है. उनका कहना है कि मरकज़ी हुकूमत उन दो कंपनियों से वैक्सीन बनाने फॉर्मूला लेकर उन सभी कंपनियों को दें जो बहिफाज़त तरीके से वैक्सीन बना सकती हैं. वैक्सीन की पैदावार करने वाली कंपनियों के मुनाफे का एक अंश रॉयल्टी के तौर पर उन दोनों कंपनियों को दे सकते हैं जिन्होंने असली फॉर्मूले की खोज की.

ये भी पढ़ें: दूल्हे ने भरी दुल्हन की मांग, फिर अचानक हुआ कुछ ऐसा कि डोली की जगह उठानी पड़ी अर्थी

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सीएम केजरीवाल ने कहा,  'दिल्ली में हमारे पास अब कुछ दिन की वैक्सीन ​बची है और यहीं सूरते हाल पूरे मुल्क की है. आज सिर्फ दो कंपनियां वैक्सीन बना रही हैं और दोनों मिलकर महीने में केवल 6-7 करोड़ वैक्सीन बनाती हैं. इस तरह तो मुल्क में हर एक शख्स को वैक्सीन लगाने में हमें दो साल से ज़्यादा लग जाएंगे.'

ये भी पढ़ें: फैंस से किया वादा पूरा करेंगे सलमान खान, ईद के मौके पर देंगे यह बड़ा तोहफा

गौरतलब है कि इस वक्त भारत में कोविशील्ड और कोवैक्सीन दी जा रही है. भारत बॉयोटेक कोवैस्कीन बना रहा है. जबकि ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राज़ेनेका की कोविशील्ड वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट बना रहा है. वहीं रूस की स्पुतनिक-वी के आपातकालीन इस्तेमाल को भी भारत में मंज़ूरी मिल गई है, लेकिन अभी वैक्सीन लगनी शुरू नहीं हुई है.

Zee Salam Live TV: