ED ने आज़म खान पर कसा शिकंजा, इस मामले की जांच के लिए किसानों से की पूछताछ

सपा एमपी आज़म खान के खिलाफ अकेले जौहर यूनिवर्सिटी की ज़मीन कब्ज़ाने से मुतअल्लिक 28 मुकदमें दर्ज हैं

ED ने आज़म खान पर कसा शिकंजा, इस मामले की जांच के लिए किसानों से की पूछताछ
फाइल फोटो

रामपुर: सपा हुकूमत में वज़ीर रहे आज़म खान की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. आज़म के खिलाफ ईडी ने उनकी जौहर यूनिवर्सिटी और बाकी माली लेन-देन की जांच शुरू कर दी है. बुध के रोज़ को ईडी की टीम ने रामपुर पहुंचकर किसानों के बयान दर्ज किए. 

गौरतलब है कि अगस्त 2019 में ईडी ने भी मामले को नोटिस में लेकर ईडी के लखनऊ दफ्तर में आज़म खान के खिलाफ मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया था. बुध को अतुल जायसवाल की कयादत में लखनऊ से आई ईडी की टीम रामपुर पहुंची. टीम ने उन सभी किसानों से मुलाकात की जो इन मालमों से जुड़े हुए हैं. इसमें अजीमनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने वाले आलियागंज के किसानों को बुलाकर जमीनों पर कब्जे के बारे में पूछताछ की गई.  इसके साथ ही टीम ने सींगन खेड़ा के प्राइमरी स्कूल अहाते (परिसर) भी गई और जमीन को लेकर पूछताछ की.

गौरतलब है कि पिछले 6 महीनों से एमपी आज़म खान, उनकी बीवी विधायक डा. तजीन फातिमा और पुत्र अब्दुल्ला आजम सीतापुर की जेल में बंद हैं. 

आज़म पर दर्ज हैं 90 के करीब मुकदमें
सपा एमपी आज़म खान के खिलाफ अकेले जौहर यूनिवर्सिटी की ज़मीन कब्ज़ाने से मुतअल्लिक 28 मुकदमें दर्ज हैं. योगी हुकूमत के आने के बाद उन पर दर्ज मामलों की तहकीकात में तेजी आई, पिछले करीब 1 साल में ही उन पर करीब 90 मुकदमे दर्ज किए गए थे. अगस्त 2019 ने मामले को नोटिस में लेते हुए ईडी आज़म खान के खिलाफ ईडी के लखनऊ दफ्तर में मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया गया था. 

Zee Salaam LIVE TV