जम्मू के इस गांव में नहीं पहुंच पा रही सरकारी सहूलियात, ग़रीबों के सामने खड़ी हुई परेशानियां

जम्मू से करीब 30 किलोमीटर दूर ब्लॉक बलवाल पंचायत गांव शोवा में लोगों का हाल बेहाल है. हुकूमत की ओर से अभी तक राशन नहीं पहुंच सका है

जम्मू के इस गांव में नहीं पहुंच पा रही सरकारी सहूलियात, ग़रीबों के सामने खड़ी हुई परेशानियां

जम्मू / जतिंदर नूरा : हिंदुस्तान को कोरोना के खौफनाक असर से बचाने के लिए लॉकडाउन का फैसला लिया गया था. जिसके चलते हर शख्स को घर पर रहने की हिदायत दी गई थी. लेकिन लॉकडाउन से ग़रीबों के सामने परेशानियां आकर खड़ी हो गई कि अब वो कैसे अपना और अपने कुनबे का पेट भरेगा. हालांकि मरकज़ी हुक़ूमत ने गरीबों का ख़्याल रखते हुए राशन मुहैया कराने की बात की गई थी और बहुत सी जगहों में गांव गांव जाकर लोगों तक राशन मुहैया भी कराया गया. लेकिन कुछ गांव पिछड़ने पन के चलते इस स्कीम से भी पीछे छूट गए.

दरअसल जम्मू से करीब 30 किलोमीटर दूर ब्लॉक बलवाल पंचायत गांव शोवा में लोगों का हाल बेहाल है. हुकूमत की ओर से अभी तक राशन नहीं पहुंच सका है. ज़ी मीडिया की टीम ने वहां पहुंचकर लोगों से बात की और वहां का हाल जाना. शोवा गांव जो एक पहाड़ी इलाका है, वहां के लोगों का कहना है कि यहां के लोग खेती बाडिंया और मज़दूरी कर अपने परिवार चलाते हैं. ऐसे समय में उन्हें मजदूरी करने के लिए मैदानी इलाके पर जाना पड़ता है और वहाँ के रहने बाले गरीब लोग इस समय परेशानी में है क्यों की इस समय उनके पास खाने के लिए कुछ नहीं है. हुकूमत के नुमाइंदे भी शोवा गांव में नहीं पहुंच पाए हैं.

शोवा गाँव की बार करे तो यहां पर वैष्णो देवी का सदियो पुराना मंदिर है उनका कहना है माता की इन लोगों पर हमेंशा से कृपा रही है. इस मंदिर में मुल्क भर से लोग आते लेकिन लॉक डाउन के चलते मंदिर बंद. बता दें इस मंदिर से बहुत लोगों का रोजगार जुड़ा हुआ है. शोवा गांव के लोगों ने हुकूमत से अपील करते हुए कहा कि हमें भी राशन और सब्जियां मुहैया कराईं जाएं ताकि हमारा परिवार चल सके.

Watch Zee Salaam Live TV