राउत भले ही मांगली माफी लेकिन हाजी मस्तान के बेटे ने किया कांग्रेस के 'अंडरवर्ल्ड कनेक्शन' का खुलासा

शिवसेना एमपी संजय राउत के इंदिरा गांधी और अंडरवर्ल्ड डॉन क़रीम लाला पर दिए बयान को लेकर भले कांग्रेस नाराज़ है. शायद इसी वजह से संजय राउत को अपने बयान पर माफी मांगनी पड़ी है लेकिन ये हकीकत है कि अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला से कई नेता मिलने जाते थे और करीम लाला कई नेताओं से मिलता था.

राउत भले ही मांगली माफी लेकिन हाजी मस्तान के बेटे ने किया कांग्रेस के 'अंडरवर्ल्ड कनेक्शन' का खुलासा

मुंबई: शिवसेना एमपी संजय राउत के इंदिरा गांधी और अंडरवर्ल्ड डॉन क़रीम लाला पर दिए बयान को लेकर भले कांग्रेस नाराज़ है. शायद इसी वजह से संजय राउत को अपने बयान पर माफी मांगनी पड़ी है लेकिन ये हकीकत है कि अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला से कई नेता मिलने जाते थे और करीम लाला कई नेताओं से मिलता था. ZEE NEWS लाइब्रेरी में करीम लाला और साबिक वज़ीरे आज़म राजीव गांधी की तस्वीर भी है. 

हाजी मस्तान के बेटे सुंदर शेखर ने भी ZEE NEWS से दावा किया कि कांग्रेस के सभी बड़े लीडर करीम लाला और हाजी मस्तान से मिलते थे. शेखर ने कहा, "यह बात सही है. मै गवाह हूं. वो सब कांग्रेस में थे." सीनियर सहाफी बलजीत परमार का दावा है कि करीम लाला और इंदिरा गांधी के बीच साल 1973 में एक बार मुलाकात हुई थी. मशहूर मुसन्निफ डायरेक्टर और शायर हरिंद्रनाथ चट्टोपाध्याय को पद्मभूषण एज़ाज दिया जाना था.

इस दौरान उनसे करीम लाला ने राष्ट्रपति भवन देखने की ख्वाहिश ज़ाहिर की थी और साथ जाने की गुज़ारिश की भी थी. एज़ाज़ी तकरीब के दौरान कई जानी मानी हस्तियां वहां मौजूद थीं. इस दौरान करीम लाला और इंदिरा गांधी की मुलाकात हुई.उधर, महाराष्ट्र कांग्रेस के सद्र बालासाहेब थोराट ने इस पूरे मामले पर तबसिरा देते हुए कहा, "संजय राउत का बयान बिलकुल गलत है. मुस्तकबिल में ऐसा बयान दोबारा हम बर्दाश्त नहीं करेंगे. हमने CM उद्धव ठाकरे से अपनी शिकायत दर्ज कराई है." इधर, महाराष्ट्र के वज़ारते दाखला अनिल देशमुख ने कहा, "संजय राउत के बयानों को सुनने के बाद मैं उस पर वज़ारते दाखला की हिमायत रखूंगा. क्या कहा उसे सुनने और उसकी जांच परख के बाद बोलूंगा." 

बीजेपी ने कांग्रेस और अंडरवर्ल्ड के बीच रिश्तों के इल्ज़ाम की सीबीआई जांच करे. बीजेपी लीडर किरीट सोमैया ने कहा कि  राहुल गांधी सफाई दें. वज़ीरे आला उद्धव ठाकरे सीबीआई जांच की सिफारिश करें.