शाहीन बाग: मुज़ाहिरा इस तरह से होना चाहिए कि सड़क को ब्लॉक न किया जाए: SC

शाहीन बाग़ में चल रहे मुज़ाहिरे की वजह से बंद पड़ी अहम सड़क को खाली करवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई अर्ज़ी पर पीर को समाअत के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम यह नहीं कह रहे कि मज़ाहिरा करना का हक़ नहीं है 

शाहीन बाग: मुज़ाहिरा इस तरह से होना चाहिए कि सड़क को ब्लॉक न किया जाए: SC
फाइल फोटो...

नई दिल्ली: गुज़िश्ता करीब दो माह से दिल्ली के शाहीन बाग़ में चल रहे मुज़ाहिरे की वजह से बंद पड़ी अहम सड़क को खाली करवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई अर्ज़ी पर पीर को समाअत के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम यह नहीं कह रहे कि मज़ाहिरा करना का हक़ नहीं है लेकिन सवाल यह पैदा होता है कि मुज़ाहिरा कहां किया जाए.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि फिक्र इस बात को लेकर है कि अगर इस तरह सड़क या आम मक़ामात को ब्लॉक किया जाना लगा तो दिक्कत होगी. जम्हूरियत में लोगों के इज़हारे ख्याल की आज़ादी से ही चलती है लेकिन इसकी एक हद होती है. आज मुज़ाहिरा यहां हो रहा है, कल कहीं और होगा, अगर ऐसे ही चलता रहा तो शहर के मुख्तलिफ़ इलाक़े ब्लॉक हो जाएंगे. समाअत के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने सीनियर वकील संजय हेगड़े को मज़ाकरातकार (बात-चीत करने वाला) मुक़र्र किया है. अब इस मामले की अगली समाअत 24 फरवरी को होगी.