Tokyo Olympics: भारतीय हॉकी टीम ने रचा इतिहास, जर्मनी को 5-4 से हराकर जीता ब्रॉन्ज

भारत ने गुरुवार को ब्रॉन्ज मेडल के मुकाबले में जर्मनी को 5-4 से मात देकर टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया है. 

Tokyo Olympics: भारतीय हॉकी टीम ने रचा इतिहास, जर्मनी को 5-4 से हराकर जीता ब्रॉन्ज

टोक्यो: टोक्यो ओलंपिक्स में भारतीत हॉकी टीम इतिहास रच दिया है. भारतीय हॉकी टीम ने 41 साल बाद ब्रॉन्ज मेडल पर कब्जा किया है. भारत ने गुरुवार को ब्रॉन्ज मेडल के मुकाबले में जर्मनी को 5-4 से मात देकर टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया है. 1980 के बाद भारतीय हॉकी टीम ने पहली बार ओलंपिक मेडल जीता है.

भारतीय टीम सेमीफाइनल में बेल्जियम के हाथों हार गई थी. इसके बाद उसे कांस्य जीतने का मौका मिला था. जर्मनी के खिलाफ एक समय भारतीय टीम 1-3 से पीछे चल रही थी लेकिन सात मिनट में चार गोल करते हुए भारतीय खिलाड़ियों ने मैच की दिशा अपनी ओर मोड़ दी.

भारत ने अंतिम बार 1980 के मॉस्को ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था. कांस्य पदक की बात की जाए तो भारत ने 1972 के म्यूनिख ओलंपिक में नीदरलैंड्स को हराकर यह पदक जीता था. टोक्यो में भारत का यह चौथा मेडल है. भारत हॉकी के अलावा वेटलिफ्टिंग, बैडमिंटन और मुक्केबाजी में पदक जीत चुका है जबकि इस हार के साथ जर्मनी के हाथों 2016 के रियो ओलंपिक के बाद लगातार दूसरा कांस्य जीतने का मौका निकल गया.

ऐतिहासिक! एक ऐसा दिन जो हर भारतीय की याद में दर्ज होगा. कांस्य पदक जीतने के लिए हमारी पुरुष हॉकी टीम को बधाई. इस उपलब्धि के साथ, उन्होंने पूरे देश, खासकर हमारे युवाओं की कल्पना पर कब्जा कर लिया है. भारत को अपनी हॉकी टीम पर गर्व है.

ZEE SALAAM LIVE TV