जामिया ने लंदन की THE वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग -2021 में भी बरकरार रखी अपनी रैंक

टीएचई के आंकड़ों के मुताबिक जामिया ने हिंदुस्तानी इदारों में अपनी रैंकिंग में बेहतरी करते हुए पिछले साल के 19वें की जगह इस बार 12 वें पायदान पर अपनी जगह बनाई है.

जामिया ने लंदन की THE वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग -2021 में भी बरकरार रखी अपनी रैंक
फाइल फोटो

नई दिल्ली: जामिया मिल्लिया इस्लामिया हिंदुस्तान के उन गिने-चुने तालीमी इदारों (शिक्षण संस्थानों) में शामिल है, जिसने लंदन की टाइम्स हायर एजुकेशन (टीएचई) वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021 में न सिर्फ अपना मकाम बरकरार रखा बल्कि हिंदुस्तानी तालीमी इदारों में अपनी पौज़ीशन में काफी बेहतरी किया है. 

टीएचई के आंकड़ों के मुताबिक जामिया ने हिंदुस्तानी इदारों में अपनी रैंकिंग में बेहतरी करते हुए पिछले साल के 19वें की जगह इस बार 12 वें पायदान पर अपनी जगह बनाई है. साथ ही यूनिवर्सिटीज़ ने दुनिया की आला 601-800 यूनिवर्सिटीज़ में अपनी जगह बरकरार रखी. हालांकि इस साल के इवैल्यूएशन में दुनिया भर से हिस्सा लेने वाले इदारों की तादाद में बढ़ोतरी हुई है.

द वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021 में 92 मुल्कों की तकरीबन 1527 यूनिवर्सिटीज़ का तजज़िया किया गया है, जबकि पिछले साल 92 मुल्कों के 1400 इदारों का ही किया गया था. टीएचई के ज़रिए यूनिवर्सिटीज़ के प्रदर्शन का असेसमेंट करने के लिए पांच पैमानों पर गौर किया गया है. पढ़ाना (30 फीसद), रिसर्च (30 फीसद), साइटेशन (30 फीसद), सनअती आमतदनी यानी उद्योग आय (2.5 फीसद) और इंटरनेशनल आउटलुक (7.5 फीसद).

जामिया की वाइस चांसलर प्रो. नजमा अख्तर ने कौमी और आलमी रैंकिंग में यूनिवर्सिटीज़ के लगातार सुधार और बेहतर होते जा रहे प्रदर्शन पर खुशी कि इज़हार किया है. उन्होंने कहा कि यह प्रदर्शन जामिया की बढ़ती आलमी (अंतरराष्ट्रीय) पहचान और आउटरीच के अलावा इसके आला क्वालिटी वाले शोध, प्रकाशन और तालीम को ज़ाहिर है. उन्होंने उम्मीद ज़ाहिर की है कि यूनिविर्स्टी अपनी कारकर्दगी में और बेहतरी करेगी जिससे उसकी रैंकिंग बेहतर से बेहतर होती जाएगी.

गौरतलब है कि इससे पहले जामिया को साल 2020 में मॉस्को आधारित राउंड यूनिवर्सिटी रैंकिंग (आरयूआर) में 538 वें मकाम पर रखा गया है.

Zee Salaam LIVE TV