UP Cabinet Expansion: जितिन प्रसाद समेत सात नए मंत्रियों को दिलाई गई शपथ

पूर्व में केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री रह चुके जितिन प्रसाद हाल ही में कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे.

UP Cabinet Expansion: जितिन प्रसाद समेत सात नए मंत्रियों को दिलाई गई शपथ
राजभवन में मंत्री पद की शपथ लेते जतिन प्रसाद

लखनऊः उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल के बहुप्रतीक्षित विस्तार के तहत इतवार को कांग्रेस के साबिक वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री रह चुके जितिन प्रसाद समेत सात मंत्रियों को ओहदे और राजदारी का हलफ दिलायास गया. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने राजभवन के गांधी सभागार में आयोजित एक सादे समारोह में जितिन प्रसाद, पलटू राम, धर्मवीर प्रजापति, छत्रपाल गंगवार, संगीता बलवंत, संजीव कुमार गौड़ और दिनेश खटिक को मंत्री पद की शपथ दिलाई. प्रसाद को कैबिनेट मंत्री जबकि अन्य को राज्य मंत्री पद की शपथ दिलाई गई है.

विधानसभा चुनाव में बमुश्किल पांच महीने का वक्त 
पूर्व में केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री रह चुके जितिन प्रसाद हाल ही में कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे. उन्हें राज्य मंत्रिमंडल में विस्तार के तहत मंत्री पद दिया जाना तय माना जा रहा था. प्रदेश मंत्रिमंडल का विस्तार ऐसे वक्त में किया गया है जब राज्य विधानसभा चुनाव में बमुश्किल पांच महीने रह गए हैं.

विस चुनाव में जातीय समीकरण साधने की कोशिश 
सबसे पहले जितिन प्रसाद ने शपथ ली; उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. छत्रपाल गंगवार बरेली के बहेड़ी सीट से आते हैं. कुर्मी समुदाय का प्रतिनिधित्व करते हैं. वहीं, पलटू राम  बलराम पुर से आते हैं. 2017 में जीते थे और दलित समुदाय से आते हैं. संगीता बलवंत बिंद पहली बार विधायक चुनी गई हैं. 42 साल की बिन्द पिछड़ी जाति से आती हैं और गाजीपुर सदर सीट का प्रतिनिधित्व करती हैं. संजीव कुमार सोनभद्र की ओबरा सीट से आते हैं. आदिवासी समुदाय से ताल्लुक रखते हैं. दिनेश खटीक मेरठ के हस्तिनापुर से हैं और दलित समुदाय से आते हैं. पश्चिम यूपी से मंत्री बने हैं. धर्मवीर प्रजापति हाथरस से आते हैं और विधान परिषद सदस्य हैं. 2021 में ही विधान परिषद में पहुंचे हैं. वह माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं. 

पहले से मंत्रिमंडल में थे 53 मंत्री 
इस मंत्रिमंडल विस्तार से पहले प्रदेश सरकार में मुख्यमंत्री समेत 23 कैबिनेट मंत्री, नौ स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री और 21 राज्य मंत्री थे. राज्य विधानसभा में सदस्यों की संख्या 403 है, ऐसे में नियमानुसार 60 मंत्री बनाए जा सकते हैं लेकिन मंत्रिमंडल विस्तार से पूर्व सिर्फ 53 मंत्री थे और सात पद खाली थे जिन्हें आज भरा गया. 

Zee Salaam Live Tv