शाहीन बाग मुज़ाहिरे पर बोले केरल गवर्नर, लोगों की ज़िंदगियां मुतास्सिर करना भी दहशतगर्दी

केरल के गवर्नर आरिफ़ मोहम्मद ख़ान ने शाहीन बाग के एहतिजाज पर सवाल उठाते हुए आम जिंदगी को मुतास्सिर करने को दहशतगर्दी की दूसरी शक्ल बताया।

शाहीन बाग मुज़ाहिरे पर बोले केरल गवर्नर, लोगों की ज़िंदगियां मुतास्सिर करना भी दहशतगर्दी

केरल (Kerala) के गवर्नर आरिफ़ मोहम्मद खान (Arif Mohammad Khan) ने शाहीन बाग के एहतिजाज पर सवाल उठा दिया है. उनका कहना है कि लोगों की ज़िंदगी को मुतास्सिर करना भी एक तरह की दहशतगर्दी ही है.गवर्नर आरिफ मोहम्मद खान ने शाहीन बाग (Shaeen Bagh) के एहतेजाजियों को लेकर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि अपने नज़रिये को दूसरों पर थोपना दहशतगर्दी की तरह है। दिल्ली में 'भारतीय छात्र संसद' में आरिफ मोहम्मद खान ने आम जिंदगी को मुतास्सिर करने को दहशतगर्दी की दूसरी शक्ल बताया। उन्होंने कहा कि एग्रेशन सिर्फ तौर पर सामने नहीं आती, वो कई शक्ल में सामने आती है। इससे पहले भी आरिफ मोहम्मद खान ने कहा था कि क़ानून हाथ में लेकर अपने नज़िरए को थोपना इज़हार-ए-ख्याल नहीं हो सकती।

जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu Kashmir) से आर्टिकल 370 हटाने के मुद्दे पर कहा कि मैं यहां से कोई बड़ा दावा नहीं करना चाहता। लेकिन जिस तरह से कश्मीर में चीजें नॉर्मल हो रही हैं , मुझे इस बात का शक नहीं है कि हम दहशतगर्दी को काफी हद तक खत्म कर पाएंगे।उन्होंने कहा कि जब घर खाली होता है, वहां कोई जिंदा नहीं रह सकता है। ऐसे घर में बहुत भूतों का वास होता है। इस तरह से दहशतगर्दी का भूत सामने आया है।

 हम आपको बता दें कि शाहीन बाग का रास्ता खुलवाने के लिए मुज़ाकरातकार को तीसरे दिन भी मुज़ाहिरीन से जद्दोजहद करनी पड़ी। मुज़ाहिरीन से संजय हेगड़े  (Sanjay Hegde) ने कहा कि वो ट्रैफिक मामूल करने के लिए कम अज़ कम एक तरफ का रास्ता खाली कर दें। किसी भी ख़तरे के पेशेनज़र पुलिस पूरी सिक्योरिटी देगी। जवाब में मुज़ाहिरीन ने पुलिस पर यक़ीन न होने की बात कही। मुज़ाहिरीन ने संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन के सामने पुलिस से हिफाज़त का तहरीरी भरोसा देने को कहा।