कोरोना से मरने वालों के परिवार की मदद करेगी J&K सरकार, स्टूडेंट्स को मिलेगा वज़ीफ़ा

जिस परिवार के प्यारो की कोरोना के चलते मौत हुई है उस घर के दो बच्चों को वज़ीफा मिलेगा लेकिन इसके लिए ये शर्त लाजिम है कि पहले से उन्हें कोई वजीफा नहीं मिल रहा हो. 

कोरोना से मरने वालों के परिवार की मदद करेगी J&K सरकार, स्टूडेंट्स को मिलेगा वज़ीफ़ा
एलजी मनोज सिन्हा, फाइल फोटो

श्रीनगर/जतिंदर नूरा: कोरोना वबा के चलते यहां जम्मू कश्मीर की अवाम परेशान है वहीं जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा अवाम को हर परेशानी से निकालने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं. जम्मू कश्मीर की आवाम को हर परेशानी से बाहर किस तरह से बाहर निकाला जाये.आवाम की खुशहाली लिए हर तरह के बड़े बड़े फैसले लिए जा रहे हैं.

गुज़िश्ता रोज उपराजयपाल ने दिंवगत परिवारों के लिए एक हज़ार पेंशन देने की बात कही है और साथ में पीड़ित परिवार के दो बच्चों की पढ़ाई के लिए वजीफा देने की बात कही गयी है. बशर्त जो बच्चे वजीफे का फायदा न ले रहे हों. स्कूल जाने बाले तलबा को 20 हज़ार रुपये और कॉलेज जाने छात्र को 40 वज़ीफा मिलेगी.

ये भी पढ़ें: CBI डायरेक्टर के पास कितनी है ताकत और सैलरी, जानिए उनकी नौकरी से जुड़ी दिलचस्प बातें

जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कोरोना वबा के चलते जम्मू कश्मीर की आवाम ने खोने वाले परिवारों को माली मदद देने के लिए स्कीम शुरू की है. इस स्कीम का फायदा उन परिवारों को मिलेगा जिन्होंने अपने घर में कमाने वाले सदस्य कोरोना वबा के समय खो दिया है. जम्मू कश्मीर सरकार की तरफ से इस योजना का नाम सक्षम गया है.

इसके लिए समाज कल्याण विभाग की एक स्पेशल टीम का कयाम किया गया है जो ऐसे परिवारों की पहचान करेगी और उसके बाद परिवारों को माली मदद मुहैया करेगी. इस स्कील के तहत परिवार के बड़े सदस्य या उसके बेटे को एक हजार रुपये हर महीने दिया जाएगा. इसके अलावा ऐसे परिवारों के स्कूल जाने वाले बच्चों को हर साल 20 हजार रुपये का वज़ीफा दिया जाएगा. अगर घर का कोई सदस्य कालेज में पढ़ रहा है तो उसे मदद के तौर पर 40 हजार रुपये वज़ीफा दिया जाएगा. अगर घर के दो बच्चे स्कॉलरशिप के मान्य होंगे, लेकिन यह स्कॉलरशिप उनको दी जाएगी अगर वह किसी और कोई स्कॉलरशिप का लाभ नहीं ले रहे होंगे.

ये भी पढ़ें: शादी में पंडित ने रोका मंत्र, मंडप में ही खेलने लगे दूल्हा-दुल्हन, देखें वायरल वीडियो

सरकार के ज़रिए जो खास टीम तैयार की गयी है वह अलग-अलग तरह की स्कीमों के तहत भी उन परिवारों की मदद के इम्कान तलाश करेगे. अगर इन परिवारों का कोई मेंबर अपना कोई रोजगार शुरू करना चाहता है सरकार की तरफ से तैयार गयी टीमें की तरफ से उनकी मदद की जाएगी. जम्मू कश्मीर उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने यह फैसला 11 मई को हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में लिया था. ये योजना अगले महीने से शुरू कर दी जाएगी. यह योजना केंद्र सरकार के सबका साथ, सबका विकास के वादे के तहत की गई है. जम्मू कश्मीर आवाम हर जरूरतमंद व्यक्ति की मदद की जायेगी.

Zee Salam Live TV: