फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ भोपाल में हुए प्रोटेस्ट से खफा हुए CM, कहा- बख्शे नहीं जाएंगे

एक ट्वीट में शिवराज ने लिखा है, मध्यप्रदेश शांति का टापू है. इसकी शांति को भंग करने वालों से हम पूरी सख्ती से निपटेंगे.

फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ भोपाल में हुए प्रोटेस्ट से खफा हुए CM, कहा- बख्शे नहीं जाएंगे
फाइल फोटो

नई दिल्ली: गुज़िश्ता रोज़ मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के के बयान के खिलाफ हुए प्रोटेस्ट पर चीफ मिनिस्टर शिवराज सिंह नाराज़ हैं. भोपाल के इकबाल मैदान में कांग्रेस के विधायक आरिफ मसूद की कयादत में इकट्ठा हुए हज़ारों लोगों पर अब हुकूमत सख्त एक्शन लेने जा रही है. 

इस मामले को खुद सीएम शिवराज सिंह ने नोटिस लिया है.  एक ट्वीट में शिवराज ने लिखा है, 'मध्यप्रदेश शांति का टापू है. इसकी शांति को भंग करने वालों से हम पूरी सख्ती से निपटेंगे. इस मामले में 188 IPC के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है. किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जायेगा, वो चाहे कोई भी हो.'

बता दें कि जुमेरात के रोज़ मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के इकबाल मेदान में कांग्रेस के विधायक आरिफ मसूद की कयादत में हज़ारों की तादाद में लोगों ने इकट्ठा होकर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के इस्लाम पर दिए गए बयान के खिलाफ प्रोटेस्ट किया था. हालांकि इस दौरान कोरोना वायरस की गाइडलाइंस धज्जियां उड़ी थीं. जिस वजह से पुलिस ने 2 हज़ार ना मालूम लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था. 

याद रहे कि पिछले दिनों फ्रांस में एक टीचर ने क्लास के अंदर के पैगम्बर मोहम्मद साहब का कार्टून दिखाया था. जिसके बाद एक स्टूडेंट ने उस टीचर का कत्ल कर दिया था. हालांकि बाद उस स्टूडेंट को भी पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया था. इस वारदात के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने इसे इस्लामी आंतकवाद करार दिया था और कहा था कि इस्लाम हमारा मुस्तकबिल हथियाना चाहता है, जो कभी नहीं होगा, साथ ही उन्होंने पैगम्बर मोहम्मद साहब के कार्टून जारी रखने रखने की बात कही थी.

Zee Salaam LIVE TV