जम्मू-कश्मीर की माव्या सूदन बनी रियासत की पहली महिला फाइटर प्लेन पायलट, उनकी दादी ने क्या कहा

जम्मू-कश्मीर की रहने वाली माव्या सूदन ने भारतीय वायुसेना में महिला फाइटर पायलट नियुक्त की गईं हैं. उनके इस कामयाबी से पूरे गाँव में जश्न का माहौल है.  

जम्मू-कश्मीर की माव्या सूदन बनी रियासत की पहली महिला फाइटर प्लेन पायलट, उनकी दादी ने क्या कहा
माव्या सूदन, फोटो- एएनआई

नई दिल्ली: जम्मू- कश्मीर की रहने वाली माव्या सूदन ने भारतीय वायुसेना में जम्मू-कश्मीर की पहली महिला फाइटर पायलट बनकर इतिहास रच दिया है. माव्या राजौरी में नौशेरा की सीमा तहसील के लम्बेरी गांव की रहने वाली हैं. माव्या ने फ़्लाइंग ऑफिसर के रूप में IAF में भर्ती हुई थीं. माव्या भारतीय वायुसेना में शामिल होने वाली 12वीं महिला अफसर और फाइटर पायलट के रूप में शामिल होने वाली राजौरी की पहली महिला अधिकारी बन गई हैं.

राजनीति विज्ञान में स्नातक हैं माव्या 
23 वर्षीय माव्या ने चंडीगढ़ के डीएवी से कॉलेज से राजनीति विज्ञान से स्नातक किया था. इसके पहले माव्या ने जम्मू के कार्मल कान्वेंट स्कूल में अपनी शिक्षा हासिल की है. माव्या ने तेलंगाना के हैदराबाद में डुंडिगल वायुसेना अकादमी में पासिंग आउट परेड में भाग लेकर अपने देश, राज्य और जिले का नाम रौशन किया है. आपको बता दें कि पासिंग आउट परेड में माव्या ही इकलौती ऐसी महिला फाइटर पायलट थीं जिसने ये उपलब्धि हासिल की. शनिचर को हैदराबाद में मुनअक्किद इस पासिंग आउट परेड में एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार भदौरिया भी मौजूद थे. 

माव्या बचपन से उडाना चाहती थी फाइटर प्लेन 
माव्य की वालिद विनोद सूदन ने कहा कि अपनी बेटी की इस कामयाबी से वो बेहद खुश हैं. उन्होंने कहा कि माव्य सिर्फ अब हामरी बेटी ही नहीं बल्कि वो पूरे मुल्क की बेटी है. वहीँ, माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड में जूनियर इंजीनियर माव्या की बहन तान्या ने कहा कि माव्या को बचपन से ही भारतीय वायु सेना में शामिल लड़ाकू विमान उड़ाने का शौक था. आईएएफ की महिला फाइटर पायलट के रूप में तैनाती के बाद माव्या का सपना साकार हुआ. तान्या ने बताया कि माव्या बचपन से पढ़ाई में काफी होशियार थीं. 

पूरे गाँव में जश्न का माहौल
माव्या की दादी पुष्पा देवी कहती हैं, “माव्या की इस कामयाबी पैर पूरा गाँव खुश है. पूरे गाँव में जश्न का माहौल है. वो कहती हैं, माव्या ने एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया को पासिंग आउट परेड में सैल्यूट किया तो जम्मू कश्मीर का ही नहीं, बल्कि देश का नाम रोशन हो गया. यह हमारी बिटिया की कड़ी मेहनत का नतीजा है.” 

Zee Salaam Live Tv