एंटीलिया केस में एनआईए की हिरासत में मुंबई पुलिस के पूर्व पुलिस अफसर और शिवसेना नेता प्रदीप शर्मा

एनआईए ने कुछ दिनों पहले संतोष शेलार नाम के शख्स को गिरफ्तार किया था, जिससे प्रदीप शर्मा का कनेक्शन बताया जा रहा है. इसी सिलसिले में शर्मा को हिरासत में लिया गया है. 

एंटीलिया केस में एनआईए की हिरासत में मुंबई पुलिस के पूर्व पुलिस अफसर और शिवसेना नेता प्रदीप शर्मा
प्रदीप शर्मा, फाइल फोटो

मुंबईः मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के पास विस्फोटक से भरी गाड़ी पार्क करने की साजिश और मनसुख हिरेन के कत्ल के केस में एनआईए ने जुमेरात की सुबह मुम्बई पुलिस के पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट और शिवसेना नेता प्रदीश शर्मा के घर छापा मारा है. प्रदीप शर्मा को एनआईए ने हिरासत में ले लिया है उन्हें पूछताछ के लिए एनआईए दफ्तर ले जाया गया है. बताया जा रहा है कि एनआईए ने कुछ दिनों पहले संतोष शेलार नाम के शख्स को गिरफ्तार किया था, जिससे प्रदीप शर्मा का कनेक्शन बताया जा रहा है. इसी सिलसिले में शर्मा को हिरासत में लिया गया है. 

इनकी भी हो चुकी है गिरफ्तारी 
इससे पहले एनआईए ने जांच के संबंध में दक्षिण मुंबई में अपने कार्यालय में दो दिनों तक शर्मा से पूछताछ की थी. केंद्रीय जांच एजेंसी ने पहले मामले में संलिप्तता को लेकर पूर्व पुलिस अधिकारी सचिन वाजे, रियाजुद्दीन काजी, सुनील माने, पूर्व पुलिस कांस्टेबल विनायक शिंदे और क्रिकेट सटोरिये नरेश गौड़ को गिरफ्तार किया था. एनआईए ने हाल ही में इस सिलसिले में संतोष शेलार और आनंद जाधव को गिरफ्तार किया था. एनआईए ने कहा कि दोनों व्यक्ति कारोबारी मुकेश अंबानी के आवास के समीप उस एसयूवी को खड़ी करने की साजिश में शामिल थे, जिसमें विस्फोटक सामग्री रखी हुई थी.

कौन हैं एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा 
गौरतलब है एंटीलिया केस में नाम आने वाले प्रदीप शर्मा ने शिवसेना में शामिल होने के पहले साल 2019 में पुलिस की नौकरी छोड़ दी थी. इससे पहले वह पुणे क्राइम ब्रांच में तैनात थे. उन्होंने 1983 में पुलिस सेवा ज्वाॅइन की थी. प्रदीप के नाम 100 से ज्यादा एनकाउंटर हैं. कुछ सालों तक वह निलंबित भी रहे थे लेकिन बाद में उन्हें फिर से बहाल किया गया था.

क्या है मामला 
अंबानी के दक्षिण मुंबई में स्थित आवास ‘एंटीलिया’के पास इस साल 25 फरवरी 2021 को एक एसयूवी खड़ी मिली थी. वाहन में विस्फोटक रखा था. इस स्कॉर्पियो कार का मालिक मनसुख हिरेन पांच मार्च को मुंबई क्रीक में मृत मिला था. मनसुख हिरेन ठाणे का कारोबारी था. पहले इन दोनों मामलों की जांच महाराष्ट्र पुलिस कर रही थी, लेकिन बाद में इन्हें एनआईए को सौंप दिया गया.\

Zee Salaam Live Tv