दिलीप कुमार-राज कपूर की विरासत को संजोएगी पाकिस्तान सरकार! म्यूजियम बनेंगे पुश्तैनी घर

पाकिस्तानी न्यूज़ वेबसाइट जंग के मुताबिक विशेष सहायक मुख्यमंत्री कामरान बंगश ने कहा कि सरकार राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने की कोशिश कर रही है ताकि प्रांत में आर्थिक गतिविधियां जारी रह सकें.

दिलीप कुमार-राज कपूर की विरासत को संजोएगी पाकिस्तान सरकार! म्यूजियम बनेंगे पुश्तैनी घर
फाइल फोटो

नई दिल्ली: बॉलीवुड के दिग्गज कलाकारो में शुमार किए जाने वाले दिलीप कुमार (Dilip Kumar) और राज कपूर (Raj Kapoor) के पेशावर में मौजूद पुश्तैनी घरों को पाकिस्तान सरकार ने म्यूजियम में तब्दील करने का फैसला किया है. पाकिस्तान के राज्य खैबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री ने इसे औपचारिक तौर पर मंजूरी दी है.

पाकिस्तानी न्यूज़ वेबसाइट जंग के मुताबिक विशेष सहायक मुख्यमंत्री कामरान बंगश ने कहा कि सरकार राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने की कोशिश कर रही है ताकि प्रांत में आर्थिक गतिविधियां जारी रह सकें. यही वजह है कि खैबर पख्तूनख्वा सरकार ने बॉलीवुड के इन दिग्गज कलाकारों की इन विरासत को संजोने का फैसला किया है, ताकि पर्यटक इन महान कलाकारों के पुश्तैनी मकानों को देख सकें. कामरान बंगश ने कहा कि मुख्यमंत्री महमूद खान ने दोनों ऐतिहासिक मकानों के लिए 2.35 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं.

कंगना का फिर फूटा गुस्सा, इन हस्तियों को बताया "आतंकी", बॉलीवुड को कहा-Bullydawood

जंग के मुताबिक राज कपूर के घर की कीमत 1.5 करोड़ रुपये और दिलीप कुमार के घर की कीमत 80 लाख रुपये आंकी गई है. पुरातत्व विभाग के डायरेक्टर डॉ. अब्दुल समद के मुताबिक इन घरों को म्यूज़ियम बनाने के काम जल्द शुरू होगा.

बता दें कि दिलीप कुमार और राज कपूर का जन्म पेशावर के किस्सा ख्वानी इलाके में हुआ था. इनका बचपन यहीं की गलियों में गुज़रा था. राजकपूर के पुश्तैनी घर को "कपूर हवेली" के नाम से जाना जाता है. इसका निर्माण राज कपूर के दादा दीवान बशेस्वरनाथ कपूर ने 1918-22 के दौरान कराया था. 1947 में बंटवारे के वक्त दोनों ही दिग्गजों ने हिंदुस्तान आने का फैसला किया था. राजकपूर का निधन 1988 में ही हो गया था, जबकि दिलीप कुमार अब भी हमारे बीच में हैं.

यह भी पढ़ें: PHOTOS: इंडियन रेलवे ने बनाई दुनिया की पहली हॉस्पिटल ट्रेन, ऑपरेशन थिएटर समेत कई सुविधाएं

दिलीप कुमार को मिला पाकिस्तान का सबसे बड़े नागरिक सम्मान
इन दोनों ही कलाकारों की हिंदुस्तान समेत पाकिस्तान में भी तगड़ी फैन फॉलोइंग है. यहां तक कि साल 1998 में दिलीप कुमार को पाकिस्तान के सर्वोच्च नागरिक सम्मान निशान-ए-इम्तियाज़ भी प्रदान किया गया.

शाहरुख खान का भी गहरा कनेक्शन
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इसी मोहल्ले से बॉलीवुड अदाकार शाहरुख खान का भी बहुत गहरा रिश्ता है. शाहवाली कताल में शाहरुख खान के पिता ताज मोहम्मद खान का जन्म हुआ था. शाहरुख खान के पिता ताज मुहम्मद खान पेशे से वकील थे.1947 के विभाजन के बाद से शाहरुख के पिता भी अपने पूरे परिवार को लेकर भारत में बस गए थे.

यह भी पढ़ें: 54 साल की विधवा को हुआ 12 साल छोटे शख्स से प्यार, सारी जायदाद देकर खरीद लिया किसी और का 'पति'

Zee Salaam LIVE TV