CAA तशद्दुद : मेरठ में पुलिस पर गोलियां दागने वाला PFI का रकुन अनीस खलीफा गिरफ्तार

शहरियत तरमीमी कानून (CAA) की मुखालिफत में यूपी के मेरठ में तशद्दु भड़काने और पुलिस पर फायरिंग करने के मल्ज़िम अनीस खलीफा को गिरफ्तार कर लिया गया है. सीएए की मुखालिफत में तशद्दुद (CAA Violence) के दौरान पुलिस पर फायरिंग करने वाले अनीस खलीफा पर 20 हज़ार रुपये का इनाम एलान किया गया था.

CAA तशद्दुद : मेरठ में पुलिस पर गोलियां दागने वाला PFI का रकुन अनीस खलीफा गिरफ्तार

मेरठ: शहरियत तरमीमी कानून (CAA) की मुखालिफत में यूपी के मेरठ में तशद्दु भड़काने और पुलिस पर फायरिंग करने के मल्ज़िम अनीस खलीफा को गिरफ्तार कर लिया गया है. सीएए की मुखालिफत में तशद्दुद (CAA Violence) के दौरान पुलिस पर फायरिंग करने वाले अनीस खलीफा पर 20 हज़ार रुपये का इनाम एलान किया गया था. पुलिस ने अनीस खलीफा को पिस्तौल के साथ गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि 1987 के दंगे में अनीस के भाई की मौत हो गई थी. भाई की मौत का बदला लेने की नीयत से ही अनीस ने हथियार उठाकर पुलिस अफसरों को निशाना बनाया था.

दरअसल, 20 दिसंबर को मेरठ में चार थाना इलाको में आठ मुकामात पर तशद्दुद हुये थे. जिसमें पुलिस ने 24 मुकदमों में 180 नामज़द और पांच हजार ना मालूम लोगों को शामिल किया था. पुलिस ने चेहरा छिपाकर फायरिंग करने वाले अनीस खलीफा की शनाख्त के लिए सोशल मीडिया पर उसकी फोटो शेयर की थी. इसी से उसकी शनाख्त हुई थी. पुलिस ने अनीस खलीफा पर 20 हजार का इनाम भी एलान किया था.

गौरतलब है कि 20 दिसंबर को मेरठ में शरपसंद अनासिरों ने जमकर तशद्दु फैलाया था. शरपसंदों ने पुलिस पर पथराव और फायरिंग भी की थी. इसके साथ ही पुलिस ने दावा किया था कि कई पुलिस कारकुनों को एक दुकान में बंद कर जिंदा जलाने की कोशिश की गयी थी. बता दें कि पुलिस पर फायरिंग के तीन मुल्जिमीन को पहले ही पकड़ा जा चुका है. वहीं, अनीस खलीफा फरार चल रहा था. बताया जा रहा है कि अनीस कपड़ों का कारोबारी है और उसके खिलाफ लिसाड़ी गेट में मुकदमा दर्ज है. पुलिस को उसका पुराना मुजरिमाना रिकॉर्ड भी मिला है.