मन की बात में कहानियों के साथ आया आत्मनिर्भर किसानों का हाल

PM नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश के किसानों ने सदी के सबसे मुश्किल वक्त में भी आत्मनिर्भरता दिखाते हुए भारत की नींव को मजबूत किया

मन की बात में कहानियों के साथ आया आत्मनिर्भर किसानों का हाल
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने इस रविवार की 'मन की बात' को किसानों और कहानियों के नाम किया. उन्होंने कहा किसान बिल से किसानों को बहुत फायदा होगा साथ ही इस बिल से किसानों को मनचाहे दाम मिलेंगे. उन्होंने बताया कहानी बोलना नई परंपरा बन चुका है और कहानी से परिवार और देश में नई ऊर्जा आएगी.

आत्मनिर्भर किसानों ने देश को बचाया
PM नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश के किसानों ने सदी के सबसे मुश्किल वक्त में भी आत्मनिर्भरता दिखाते हुए भारत की नींव को मजबूत किया. मोदी बोले देश का कृषि क्षेत्र, हमारे किसान, हमारे गांव, आत्मनिर्भर भारत का आधार हैं. उन्होंने साथ ही कहा कि किसानों ने अपनी मेहनत के बल पर खुद को बढ़ाया है और मन की  बेड़ीयों को तोड़ा हैं. वे बोले कि किसानों को इन नए बिलों से फसल बेचने की आजादी मिलेगी. 

UN की मुस्तकिल मेंबरशिप के लिए PM मोदी ने कहा,"आखिर कब तक इंतज़ार करना होगा"

गांधी के स्वदेशी भारत का सपना होगा साकार
पीएम मोदी ने बताया कहानियों की परंपरा बेहद पुरानी है, ये इंसान की संवेदनशीलता को बाहर लाता है. साथ ही कहा कि रोचक कहानियों से पूरे देश और परिवार में नई ऊर्जा का संचार होता है. उन्होंने साथ ही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का स्वदेशी भारत का सपना अब भी अधूरा है. जिसे सारे देशवासियों को मिलकर पूरा करना है. 

PM ने बताई अपनी कहानी
PM मोदी ने कहा, 'मैं अपने जीवन में बहुत लंबे अरसे तक एक परिव्राजक के रूप में रहा. घुमंत ही मेरी जिंदगी थी. हर दिन नया गांव, नए लोग, नए परिवार. भारत में कहानी कहने की, या कहें किस्सा-कोई की, एक समृद्ध परंपरा रही है. हमारे यहां कथा की परंपरा रही है. ये धार्मिक कहानियां कहने की प्राचीन पद्धति है.' 

LIVE TV LINK