SCO समिट में कट्टरपंथ पर बोले PM Modi, Afghanistan का दिया उदाहरण

 पीएम ने कहा सबसे बड़ी क्षेत्रिय चुनौतियां, शांति, सुरक्षा और भरोसे से संबंधित हैं। इसकी अहम वजह बढ़ता हुआ कट्टरपंथ है। 

SCO समिट में कट्टरपंथ पर बोले PM Modi, Afghanistan का दिया उदाहरण

पीएम नरेंद्र मोदी ने ताजिकिस्तान की राजधानी दशाम्बे में हो रही एससीओ मीटिंग में वर्चुअली संबोधित किया। इस दौरान चीन के सद्र शी-जिनपिंग और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी मौजूद रहे। इस संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कट्टरपंथ को लेकर तीखा हमला बोला। पीएम ने कहा सबसे बड़ी क्षेत्रिय चुनौतियां, शांति, सुरक्षा और भरोसे से संबंधित हैं। इसकी अहम वजह बढ़ता हुआ कट्टरपंथ है। अफ़गानिस्तान में हाल ही में हुए इस घटनाक्रम ने इस चुनौती को और साफ़ कर दिया है।

यह भी पढ़ें: पेंशन चेक कराने गए बुज़ुर्ग के अकाउंट में अचानक निकले 52 करोड़ रुपये, जानिए क्या है पूरा मामला?

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने सूफ़ी संस्कृति का भी ज़िक्र किया, पीएम ने कहा कि अगर हम इतिहास पर नज़र डालें तो पाएंगे कि मध्य एशिया का इलाका मॉडरेट और प्रगतिशील संस्कृतियों का गढ़ रहा है। सूफ़िवाद जैसी परंपराएं यहां सदियों से पनपीं और पूरे विश्व में फैंलीं। इसकी छवी आज भी हम इलाके की सांस्कृतिक विरासत में देख सकते हैं।

साथ ही पीएम ने कहा 'इस साल हम एससीओ की 20वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। नए मित्र हमारे साथ जुड़ रहे हैं और मैं ईरान का हमारे नए भागीदार के तौर पर स्वागत करता हूं। मैं सऊदी अरब, कतर और मिस्र का भी नए संवाद भागीदारों के तौर पर स्वागत करता हूं. एससीओ का विस्तार एससीओ के बढ़ते प्रभाव को दर्शाता है।

Zee Salaam Live TV